वाराणसी। बनारस में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों की सुरक्षा में कोई कसर न रह जाए। इसलिए दोनों नेताओं की सुरक्षा के मद्देनजर जल थल नभ से अभेद्य किलेबंदी की जाएगी। जिसके लिए लगभग 12 हजार जवान तैनात किए जाएंगे। मोदी और मैक्रों की सुरक्षा को देखते हुए रविवार रात से ही एयरपोर्ट के अंदर चारों तरफ सीआईएसएफ के जवान और बाहर पुलिस तैनात रहेगी। इसी तरह रविवार रात से ही डीरेका खेल मैदान, घाट और गंगा भी पुलिस, पीएसी और सीपीएमएफ की निगरानी में हैं। दोनों राजनेताओं की सुरक्षा के दृष्टिगत गंगा में जल पुलिस, बाढ़ राहत पीएसी दल और 11 एनडीआरएफ के जवानों के अलावा नौसेना के प्रशिक्षित गोताखोर अत्याधुनिक उपकरणों के साथ तैनात रहेंगे।

थल, जल और नभ में अभेद्य सुरक्षा

इसी तरह से बाबतपुर एयरपोर्ट और अन्य सभी हेलीपैड वायु सेना की निगरानी में रहेंगे जबकि थल सेना को एलर्ट मोड पर रहने के लिए नई दिल्ली के स्तर से निर्देश दिए गए हैं। दोनों राजनेताओं की सुरक्षा व्यवस्था में एसपीजी, फ्रांस का सिक्योरिटी ग्रुप फॉर द प्रेसिडेंसी ऑफ द रिपब्लिक (जीएसपीआर), एनएसजी, एंटी टेररिस्ट स्क्वॉड और केंद्रीय खुफिया इकाइयों के जवान तैनात रहेंगे। इसके अलावा सुरक्षा व्यवस्था में 46 पुलिस अधीक्षक के नेतृत्व में 50 एएसपी, 87 डिप्टी एसपी, 90 इंस्पेक्टर, 950 एसआई, 6000 कांस्टेबल, 150 महिला एसआई, 450 महिला कांस्टेबल, 500 होमगार्ड, 20 कंपनी सेंट्रल पैरामिलिट्री फोर्स, 18 कंपनी पीएसी, दो कंपनी पीएसी बाढ़ राहत दल और 11 एनडीआरएफ के जवान तैनात रहेंगे।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के डीरेका स्थित कार्यक्रम स्थल पर तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। छोटी-छोटी कमियां दूर की जा रही हैं। केंद्रीय खेल मैदान में तीन हेलीपैड बनाए गए हैं। इनकी सुरक्षा एयरफोर्स के साथ स्थानीय पुलिस कर रही है। खेल मैदान, डीरेका इंटर कॉलेज मैदान (कार्यक्रम स्थल) और सूर्य सरोवर तीनों को सील कर दिया गया है। 200 बाई 200 का वाटर और फायर प्रूफ पंडाल बन कर तैयार है। यहां 10 हजार कुर्सियां लगाई जा रही हैं।

admin

No Comments

Leave a Comment