प्रवासी कामगारों के गांव लौटने का दिखने लगा असर, छह नये कोरोना पॉजिटिव मिलने से मची है हडकंप

गाजीपुर। वैश्विक महामारी कोरोना वायरस का सर्वाधिक संक्रमण महाराष्ट्र, गुजरात और नई दिल्ली में रहा है। राजनैतिक आरोप-प्रत्यारोप का दौर आरम्भ होने के बाद यहां से प्रवासी मजदूरों को भेजने का सिलसिला आरम्भ हो चुका है। खतरनाक यह है कि इसमें बड़ी संंख्या में कोरोना वायरस से संक्रमित रह रहे हैं। नतीजा, प्रवासी कामगारों के आने से गांव में अब कोरोना का संक्रमण बढ़ रहा है। जनपद में 6 नए कोरोना पॉजिटिव के साथ 72 घंटे में संख्या बढ़ कर 8 हो गयी है।

गांवों के साथ कस्बों में सैैनेटाइजेशन

डीएम ओमप्रकाश आर्य ने गुरुवार को 6 नए कोरोना एक्टिव मरीज की पुष्टि करते हुए बताया है कि राहत की बात यह भी है कि पुराने संक्रमितों में 6 मरीज पहले ही स्वस्थ हो चुके हैं स्वस्थ। कुल 14 मरीजों का आंकड़ा गाजीपुर जनपद में दर्ज हो चुका है। डीएम ने स्वीकार किया कि बड़ी संख्या में जो प्रवासी मजदूर हमारे जनपद में गैर राज्यो से आ रहे हैं, उनकी जांच के बाद 6 नए पॉजिटिव केस मिले हैं। डीएम ने जनता से लॉक डाउन नियमो के पालन और सोशल डिस्टेंसिंग का ख्याल रखते हुए कहा कि कोरोना संक्रमण से सावधानी ही ईलाज है, चोरी से छिपकर आ रहे कामगार मजदूरो की जांच के लिए ग्रामीण निगरानी समितियां अच्छा काम कर रही हैं। उनके द्वारा दी जा रही जानकारियों पर हम लोग उनकी जांच करा रहे हैं। कुल मिला कर गाजीपुर में बाहर से आए प्रवासी मजदुरो का साइड इफेक्ट दिखना शुरू हो गया है, प्रशासन और स्वास्थ विभाग चिन्हित गांवों और बस्तियों में सेनेटाईजिंग का कार्य भी युद्धस्तर पर करा रहा है।

Related posts