बलिया। प्रदेश के सीमावर्ती जनपदों में खनन माफिया के हौसले बुलंद है। बिहार से नदी के रास्ते अवैध लाल बालू का कारोबार करने वाले तो पुलिस पर भी गोली चलाने से नहीं चूकते हैं। इन खनन माफियाओं के खिलाफ पुलिस-प्रशासन ने तेवर सख्त कर लिये हैं। तेजी से बढ़ रहे अवैध बालू खनन को लेकर डीएम सुरेन्द्र विक्रम और एसपी अनिल कुमार ने पुलिस पर गोली चलाने वाले बालू माफियाओं को उन्हीं की भाषा में गोली से जबाव देने का आदेश दिया है। बैरिया थाने पर सोमवार को पहुंचे डीएम ने बैरिया के एसडीएम राधेश्याम पाठक को निर्देशित किया कि लाल बालू अवैध रुप से चाहे सीमावर्ती बिहार या उत्तर प्रदेश में रखा हो, उसे सीज कर कार्यवाही करें। बालू माफियाओं को किसी सूरत में नहीं बख्शा जाएगा।

वैध रूप से लाने वालों को न हो शोषण

इसके साथ ही डीएम ने स्पष्ट किया कि सड़क मार्ग से वैध रुप से जो लाल बालू आ रहा है, वह आम लोगों को आसानी से उपलब्ध हो। इसके लिए खनन विभाग प्रत्येक क्षेत्र में छोटे- छोटे विक्रेताओं की सूची बनाएगा। बालू दूकानदारों का पूरा ब्योरा भी रखा जाएगा और आदेश की आड़ में किसी का शोषण न किया जाये।

गैंगस्टर में जब्त करें सम्पति

डीएम ने बैरिया थाने के मालखाने में रखे विशुनपुरा में पकड़े गए पांच ड्रम रेक्टीफाइड स्प्रिट और सैकड़ों पेटी अवैध अंग्रेजी शराब को देखा। उन्होंने पुलिस से कहा कि ऐसे आरोपियों के खिलाफ गैंगेस्टर की कार्रवाई करते हुए एक्ट की धारा 14 (1) के तहत उनकी संपति जब्त जाएगी। थाने से निकलने के बाद डीएम-एसपी ने बिहार सीमा पर पहुंच चांद दियरा आदि क्षेत्रों का भी निरीक्षण किया।

admin

No Comments

Leave a Comment