यदि सरदार पटेल बनते पीएम तो कभी कश्मीर सरीखी समस्या का सामना नहीं करते हम: स्वतंत्रदेव सिंह

वाराणसी। समूचा देश 31 अक्टूबर को सरदार वल्लभ भाई पटेल को याद कर रहा है। गुरुवार को उनकी सरदार पटेल की 144 वीं जयंती पर देशभर में रन फॉर यूनिटी का आयोजन किया गया। सीएम योगी आदित्यनाथ ने जहां लखनऊ में दौड़ लगाई वहीं पीएम के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में रन फॉर यूनिटी में भाग लेने के लिए बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह पहुंचे। सरदार पटेल को याद करते हुए उन्होंने कहा कि अगर पटेल जिंदा होते तो कश्मीर समस्या का समाधान बहुत पहले हो गया होता।

अखंड भारत का सपना उन्हीं के चलते पूरा

स्वतंत्रदेव सिंह ने सबसे पहले मलदहिया स्थित सरदार पटेल की मूर्ति पर माल्यार्पण किया। इसके बाद बीजेपी कार्यकतार्ओं के साथ दौड़ लगाई। मीडिया से बात करते हुए उन्होंने कहा कि सरदार पटेल की वजह से ही अखंड भारत का सपना पूरा हो पाया है। अगर वो नहीं रहते तो देश की सभी रियासतें कभी एक सूत्र में नहीं पीरो पाती। उन्होंने कहा कि ये दुर्भाग्य रहा कि कुछ लोगों ने जान बूझकर उन्हें प्रधानमंत्री बनने से रोका। अगर पटेल पीएम बन गए होते तो कश्मीर की समस्या पैदा ही नहीं होती।

पीएम मोदी पूरा कर रहे सरदार पटेल का सपना

उन्होंने कहा कि पीएम नरेंन्द्र मोदी सरदार पटेल के सपने को पूरा करने में जुटे हैं। आज देश के मजबूत हाथों में है। कश्मीर से लेकर कन्याकुमारी और कच्छ के रन से कामूर तक लोगों को एकजुट करने का किसी ने काम किया है तो वो पीएम नरेंद्र मोदी जी हैं। आपको बता दें कि नरेंद्र मोदी सरकार ने हपए स्टैच्यू आॅफ यूनिटी का निर्माण कराया है। पिछले पांच सालों से मोदी सरकार सरदार पटेल की जयंती पर रन फॉर फॉर यूनिटी का आयोजन करती है। इसमें केंद्र सरकार के अलावा बीजेपी शासित राज्यों के मंत्री और नेता सड़कों पर उतरते हैं और दौड़ लगाते हैं।

Related posts