गाजीपुर। दहेज की खातिर विवाहिताओं को जलाने के मामले आये दिन सुनने को मिलते हैं लेकिन रसूलपुर पचरासी (सैदपुर) के बड़ेपुर गांव में चौंकाने वाला मामला प्रकाश में आया है। आरोप है कि पत्नी ने पति पर केरोसिन डालकर जलाने की कोशिश की। पति 40 फीसदी से अधिक झुलस गया जिसके बाद उसका इलाज कराने के बजाय कमरे में बंद कर दिया गया। चार दिन बाद किसी तरह शौच के बहाने वहां से भाग कर अपने घर पहुंचे युवक ने ससुराल की आपबीती सुनायी तो सभी सकते में रह गये। परिजन झुलसे युवक को लेकर ाामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लाये जहां प्राथमिक उपचार के बाद हालत चिन्ताजनक देखते हुए वाराणसी रेफर कर दिया। इलाज कराने के फेर में परिजनों ने अब तक पुलिस को घटना की सूचना भी नहीं दी है।

पिछले साल हुआ था निकाह

धुआर्जुन निवासी कुदरत शाह उर्फ ताजू (22 ) का निकाह बड़ेपुर गांव निवासी नाजिम की पुत्री शैरुन से पिछले साल 25 मार्च को हुआ था। पीड़ित ने का कहना है कि शादी के पहले से ही उसकी पत्नी का चक्कर मायके में ही एक दबंग किस्म के व्यक्ति से चल रहा था। मजदूरी करने वाले ताजू ने कई बार अपनी पत्नी शैरुन को मना किया, लेकिन वो नहीं मानी। काम की तलाश में जब भी वह दो-चार दिन के लिए बाहर जाता तो पत्नी भी अपने मायके चली जाती थी। पिछले कुछ दिनों से वह काम की तलाश में मुम्बई जाने वाला था। पत्नी की सलाह पर कुछ दिनों के लिए ससुराल में ही रहकर मजदूरी करने लगा।

थप्पड का इस तरह लिया बदला

घटनाक्रम कुछ यूं रहा कि 9 जनवरी को शैरुन ने ताजू से रुपये मांगे। इस पर ताजू ने बताया उसके पास सिर्फ 700 रुपये ही हैं। अगले दिन वह अपने घर आने लगा तो शैरुन से भी चलने को लेकिन उसने साफ मना कर दिया। इसके बाद किसी बात पर दोनों में बहस हुई तो ताजू ने अपनी पत्नी को चला दिया। आरोप है बौखलाई शैरुन घर में गई और मिट्टी का तेल लाकर ताजू के ऊपर छिड़क कर दिया आग लगा दी और कमरा बंद कर वो बाहर निकल गयी। इधर ताजू ने किसी तरह से आग बुझाई इसके बावजूद वो करीब 40 फीसदी जल गया। इसके बाद शैरुन के मायके वालों ने उसे और तड़पाने की गरज से उसे 4 दिन तक कमरे में ही बंद रखा। शनिवार की रात को शौच जाने का बहाना बनाकर किसी तरह से ताजू वहां से भाग निकला और घर आ गया।

admin

No Comments

Leave a Comment