मीरजापुर। अपराध एवं अपराधियों पर प्रभावी नियन्त्रण के साथ-साथ आम लोगों,छात्रों-छात्राओं, महिलाओं-किशोरियों को भी यातायात नियमों के पालन एवं महिला सुरक्षा के सम्बन्ध में जागरूक करने को लेकर एसपी आशीष तिवारी प्रयसरत रहते हैं। इसी के तहत पुलिस की पाठशाला व थाना प्रभारियों व हल्का प्रभारियों द्वारा अपने-अपने क्षेत्र में चलायी जाने वाली जनचौपाल काफी सराहनीय व प्रभावी रहे हैं। एसपी द्वारा मेधावी छात्रों की मेधा का भी समय-समय पर सम्मान किया गया है। चाहे वह विभिन्न विषयों पर चित्रकला/निबन्ध प्रतियोगिता में शीर्ष स्थान प्राप्त करने वाले छात्र-छात्राओं को एक दिन का थानेदार बनाने की बात हो अथवा बोर्ड परीक्षाओं में बेहतर प्रदर्शन करने वाले छात्र-छात्राओं को अपने कार्यालय में सम्मानित करने की बात हो। इसी क्रम में स्वामी विवेकानन्द एकेडमी चकचड़िया कछवां मीरजापुर के छात्रों द्वारा तैयार किये गये डिवाइस के बारे में जानकारी के लिए एसपी ने सभी छात्रों के दल, प्रधानाध्यापक एवं उनके मार्गदर्शक अध्यापकगण के साथ अपने कार्यालय में मुलाकात कर उनका उत्साहवर्धन किया तथा डिवाइस को और अधिक प्रभावशाली व काम्पैक्ट बनाये जाने हेतु अपना सुझाव भी दिया।

महिला के स्पर्श करते मनचले को लगेगा झटका

गौरतलब है स्वामी विवेकानन्द एकेडमी के 4 छात्रों ने ऐसा डिवाईस बनाया है जो छूते ही छूने वाले को 2000 बोल्ट का झटका दे सकता है तथा इसमें लगे मोबाईल सेट से लास्ट काल वाले नम्बर पर आटोमेटिक काल भी चला जायेगा। इस डिवाईस को बनाने वाले छात्रों के दल में अनुराग सिंह,आशीष उपाध्याय, अनन्त उपाध्याय तथा आकर्षित तिवारी हैं। उनके मार्गदर्शक व प्रेरणाश्रोत ऋषिकान्त उपाध्याय निवासी पाण्डेयपुर वाराणसी हैं जो यहां विज्ञान के अध्यापक होने के संग वाइस प्रिन्सिपल भी हैं। इन बच्चों को स्कूल में साथ पढ़ने वाली छात्राओं के साथ रास्ते में घटी छेड़खानी की एक घटना के बाद इस डिवाइस को बनाने की प्रेरणा मिली। जिसके बाद उन्होंने एक ग्लव्स के ऊपर क्वायल,मोबाईल सेटअप, एसी कन्वर्टर, चार्जिंग सेटअप, 3.71 बोल्ट बैटरी तथा स्विच की मदद से ये डिवाइस बना डाला। जिसे महीने में केवल एक बार चार्ज करना पड़ता है।

आईटीएन्स के नजरिये से देखा डिवाइस

आशीष तिवारी आईआईटी खड्गपुर से डिग्रीधारी है और इसी नजरिये से उन्होंने बच्चों द्वारा बनाये गये डिवाइस का अवलोकन ही नहीं किया बल्कि सराहना की। इसकी सराहना करते हुये डिवाइस को और परिष्कृत व प्रभावशाली बनाये जाने हेतु अपने सुझाव बच्चों व उनके मार्गदर्शक को बताये। साथ ही डिवाइस को और परिष्कृत बनाये जाने हेतु सहयोग देने के लिये भी कहा। एसपी ने डिवाइस को महिलाओं की सुरक्षा हेतु काफी उपयोगी बताया तथा सुधार के पश्चात इसके प्रयोग हेतु आवश्यक कार्यवाही कराये जाने की बात भी कही गयी। हाइटेक कप्तान से मुलाकात के बाद बच्चे काफी उत्साहित व खुश दिखायी दिये। एसपी ने भी सभी बच्चों को उनके उज्जवल भविष्य तथा जीवन में बेहतर प्रदर्शन करने का संदेश दिया।

admin

No Comments

Leave a Comment