मीरजापुर। जिले में कार्यरत पुरानी एसओजी या मौजूदा क्राइम ब्रांच को लोग सादे वेश में असलहों के साथ देखने के आदी हो चुके हैं लेकिन इसका अहम हिस्सा स्वाट टीम अत्याधुनिक संसाधनों एवं हथियारों से लैस किया गया है। इसके साथ ही वर्दी में भी बदलाव किया गया है जिससे देखने में अब यह ब्लैक कैट कमांडों लगती है। एटीएस के स्पाट परिसर से प्रशिक्षण के बाद एक बैच आ गयी है जबकि दूसरे को एटीएस में स्वाट प्रशिक्षण के लिए रवाना किया जायेगा।

डेढ़ माह का गहन प्रशिक्षण मिला है

एसपी मीरजापुर आशीष तिवारी ने बताया कि स्वाट प्रशिक्षण प्राप्त करने हेतु एटीएस उत्तर प्रदेश के एसपीओटी परिसर में स्वाट प्रशिक्षण हेतु गये पुलिसकर्मियों को अत्याधुनिक संसाधनों से लैस किया गया है। उक्त स्वाट टीम ने एटीएस उत्तर प्रदेश के एसपीओटी परिसर लखनऊ में हाई रिस्क आपरेशन्स व अपराधों एवं आतंकवादी गतिविधियों से निपटने का डेढ़ महीने का गहन प्रशिक्षण प्राप्त किया है। प्रशिक्षण के दौरान प्रशिक्षणार्थियों ने बेसिक पुलिस टैक्टिस, स्पेशल पुलिस टैक्टिस (एनाउन्स एन्ट्री), आर्म्स डोनेशन, कार्डियो, रूम इन्टरमेन्शन, फ्लेक्सिबिलिटी ट्रेनिंग, सर्किट ट्रेनिंग, एक्सचेन्ज वेपन्स ऐट द फायर टाइम, स्टैन्थ ट्रेनिंग, विपन्स असेम्बलिंग एण्ड डिसअसेम्बलिंग, फायर आर्म्स, रेड के तरीके, रूम इन्ट्री, तलाशी के तरीके, अभियुक्तों को गिरफ्तार करने एवं हथकड़ी लगाने के तरीके इत्यादि का प्रशिक्षण प्राप्त किया। इसके अतिरिक्त सभी पुलिस कर्मियों को जनपद में होने वाली आतंकवादी गतिविधियों व अपराधों की रोकथाम हेतु विशेष रूप से प्रशिक्षित करते हुये साफ्ट टेक्निक, व्हिकल सर्च, आर्म्स कैरिंग का भी प्रशिक्षण दिया गया है। यह टीम जनपद में रहकर अपराध एवं अपराधियों पर नियन्त्रण करेगी तथा जनपद में होने वाली अन्य आपराधिक/आतंकवादी गतिविधियों का भी उन्मूलन करेगी। उक्त टीम को आतंकवादी गतिविधियों से निपटने हेतु अत्याधुनिक हथियार जैसे एमपी-5 आदि से लैस किया गया है। उक्त टीम की वर्दी में बदलाव करते हुये और आधुनिक बनाया गया है।

एसआई के संग गये थे 10 कांस्टेबिल

अपराधियों की विभिन्न आपरेशनल गतिविधियों की रोकथाम व अपराधियों की गिरफ्तारी हेतु विशेष प्रशिक्षण प्राप्त उक्त टीम ने विशेष प्रकार के असलहे संचालन में भी प्रशिक्षण प्राप्त किया है। मीरजापुर से इस प्रशिक्षण के लिए एसआई आशुतोष राय के नेतृत्व में 10 आरक्षी प्रशिक्षण हेतु एटीएस लखनऊ में भेजे गये थे, जिन्होंने सफलतापूर्वक अपना प्रशिक्षण पूरा किया। टीम में कांस्टेबिल धर्मवीर सिंह यादव, नागेन्द्र सिंह यादव, नुमान खां, एहसान खां, रामकेवल यादव, राममिलन यादव, अजय कुमार आर्य, जयप्रकाश, आनन्द कुमार सिंह व कांस्टेबिल ड्राइवर नवीन कुमार सिंह शामिल थे।

admin

No Comments

Leave a Comment