हिंदू जागरण मंच के विरोध के कारण हार्दिक पटेल का कार्यक्रम हुआ निरस्त, टकराव के बनगये थे आसार

बलिया। पीएम मोदी के धुर विरोधी और पाटीदार आंदोलन से सियासी सफर शुरू कर कांग्रेस के हमसफर बनने वाले चर्चित नेता हार्दिक पटेल का जनपद में आगमन नहीं हो सका। शनिवार को राष्ट्रीय युवा चेतना के तत्वाधान में रखा गया उनका संवाद का कार्यक्रम निरस्त करना पड़ा। हार्दिक पटेल को बतौर मुख्य अतिथि बलिया के टीडी कालेज में आमंत्रित किया गया था लेकिन आगमन की जानकारी मिलने के बाद से हिन्दू जागरण मंच ने सुबह से ही विरोध-प्रदर्शन प्रारंभकर दिया। भारी विरोध के चलते कार्यक्रम को जिला प्रशासन ने अनुमति नहीं जिसके चलते इसको निरस्त करना पड़ा।

दोनों पक्ष आमने-सामने बैठकर करते रहें धरना-प्रदर्शन

युवा चेतना मंच ने युवा संवाद कार्यक्रम में भाजपा के धुर विरोधी कांग्रेसी नेता हार्दिक पटेल को बुलाया था। कार्यक्रम टीडी कालेज के मनोरंजन हाल में निर्धारित था जिसकी अनुमति प्रशासन दे चुका था। इसकी जानकारी मिलने के बाद हिंदू युवा वाहिनी और अखिल भारतीय संगठन के युवाओं सहित हिन्दू जागरण मंच ने हार्दिक पटेल के बलिया आगमन को लेकर जबर दस्त विरोध प्रदर्शन किया। मामले की गंभीरता को देखते हुए प्रशासन ने हार्दिक पटेल के कार्यक्रम को निरस्त करने का आदेश दे दिया। तमाम कोशिशों के बाद भी प्रशासन ने युवा चेतना मंच को हार्दिक पटेल के कार्यक्रम को करने की अनुमति नहीं दिया। जिसे लेकर युवा चेतना मंच के लोगों ने काली पट्टी बांधकर शासन और प्रशासन से अपनी विरोध जताया।

पुलिस-प्रशासन ने टाला टकराव

विरोध-प्रदर्शन के क्रम मेंऐसा समय आया जब हिंदू युवा वाहिनी समेत दूसरे हिन्दूवादी संगठनों का युवा चेतना मंच के अध्यक्ष और कार्यकर्ताओं से आमना-सामना हुआ। इस दौरान दोनों ही तरफ से परस्पर विरोधी नारेबाजी की गयी। बवाल बढ़ते देख पुलिस-प्रशासन भी पहुंच गया। सड़क पर बैठे दोनों पक्षों ने एक साथ एक दूसरे को लेकर विरोध प्रदर्शन किया। प्रशासन ने किसी तरह समझा-बुझा कर मामले कोखत्म कराते हुए प्रदर्शनकारियों को शांत कराया।

Related posts