लखनऊ। बांदा जेल में मऊ सदर के विधायक मुख्तार अंसारी और उनकी पत्नी आफ्शां अंसारी को दिल का दौरा पड़ने की खबरों से परेशान उनके समर्थकों का बड़ी राहत मिली है। पीजीआई सूत्रों की माने तो मुख्तार की एंजियोग्राफी से साफ हो गया कि हार्ट में किसी तरह की खराबी नहीं है। मंगलवार की देर रात एंजियोग्राफी के बाद स्थिति स्पष्ट हुई कि मुख्तार और उनकी पत्नी का हार्ट बिल्कुल ठीक है। पत्नी को को डिस्चार्ज कर दिया गया है जबकि मुख्तार को प्राइवेट वार्ड में कुछ टेस्ट कराने के लिए शिफ्ट किया गया है। डाक्टरों ने किसी भी तरह के जहर दिए जाने आशंका को सिरे से खारिज करते हुए एंजीना पेन की आशंका जतायी है। पीजीआई में बुधवार कुछ और टेस्ट होंगे। डॉक्टरों का कहना है कि इन टेस्ट के बाद नया बुलिटेन जारी होगा जिसमें ताजा स्थिति होगी।

समर्थकों से तीमारदार रहे खौफजदा, 15 हिरासत में

मुख्तार के बांदा से लखनऊ भेजे जाने की सूचना के बाद बड़ी संख्या में समर्थक लखनऊ रवाना हो गये थे। पीजीआई में मुख्तार के आने तक भारी संख्या में लोग जुट गये थे। इनमें से काफी भीतर भी घुसने में सफल रहे और कुसी ही नहीं मेज तक पर कब्जा कर लिया। डाक्टर से लेकर मेडिकल स्टाफ को समझाना पड़ा कि इससे उनके मरीज के इलाज में समस्या होगी। घटनाक्रम का एक पहलू यह भी रहा कि दूसरे मरीजों के तीमरदार खासे खौफजदा रहे।

पुलिस ने चलाया चेकिंग अभियान

पीजीआई के आसपास बड़ी संख्या में असलहाधारियों के मौजूदगी की सूचना पर पुलिस भी सक्रिय हो गयी। बड़ी संख्या में फोर्स की तैनाती के साथ वहां पर चेकिंग अभियान भी चलाया गया। पुलिस ने हंगामा करने वाले 15 लोगों को हिरासत में ले लिया और थाने में पूछताछ की। पूरी जानाकारी संतोषजनक मिलने के बाद सभी को मुचलके पक मुक्ति मिली। मुख्तार के समर्थक उत्पीड़न की कार्रवाई बता रहे थे।

admin

No Comments

Leave a Comment