मिर्जापुर में GRP ने 7 लड़कियों को किया बरामद, ये है पूरा मामला

मिर्जापुर। नौकरी दिलाने के नाम में लड़कियों को ठगने वाले एक गिरोह का पर्दाफाश हुआ है. आरोप है कि कंपनी में नौकरी दिलाने के बजाय लड़कियों को ऑर्केस्टा में डांसर के रूप में शामिल किया जाना था. इसकी भनक लगते ही मिर्जापुर की विंध्याचल जीआरपी ने पूरे रैकेट को पकड़ लिया. हालांकि इस दौरान गैंग का सरगना भागने में कामयाब रहा. जीआरपी ने सात लड़कियों को छुड़ाया है.

आर्केस्ट्रा में बनाना चाहते थे डांसर

जीआरपी प्रभारी के मुताबिक विंध्याचल रेलवे स्टेशन के प्लेटफॉर्म नंबर दो-तीन पर सुबह चेकिंग चल रही थी. इसी दौरान जवानों की नजर पश्चिमी छोर पर बैठी सात लड़कियों पर पड़ी. पूछताछ के दौरान लड़कियों ने बताया कि वे मध्य प्रदेश के बालाघाट की रहने वाली हैं और ताप्ती गंगा से उतरी हैं. उनके पहचान का एक लड़का इलाहाबाद में किसी कंपनी में नौकरी दिलाने के नाम पर उन्हें ले आया है. हालांकि बाद में ये पता चला कि आरोपी लड़का ऑर्केस्ट्रा ग्रुप चलाता है. वह लड़कियों को डांसर के रूप में अपने ग्रुप में शामिल कराने के लिए एमपी से लाया था.

चाइल्ड लाइन को सौंपी गई लड़कियां

जीआरपी ने सभी लड़कियों को चाइल्ड लाइन को सौंप दिया है. साथ ही लड़कियों के परिजनों को सूचना पहुंचा दी है. बरामद लड़कियों में कुछ नाबालिग है. जीआरपी एस रैकेट को चलाने वाले लड़के की तलाश में है. साथ ही ये पता लगाने की कोशिश कर रही है कि और कितनी लड़कियां इस दलदल में फंसी हैं.

Related posts