सोनभद्र। आरक्षण को लेकर पिछले दिनों राजस्थान के राज्यपाल कल्याण सिंह के बयान को लेकर इन दिनों खासा विवाद छिड़ा है। उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नाइक सोनभद्र के अति पिछड़े एवं आदिवासी बाहुल्‍य क्षेत्र बभनी ब्लॉक के कारीडांड़ में वनवासी कल्याण आश्रम में मीडिया से बातचीत के दौरान उनका बचाव करते नजर आये। सेवा समर्पण संस्थान द्वारा संचालित सेवा कुंज आश्रम में आयोजित एक कार्यक्रम को संबोधित करने के बाद गवर्नर ने कहा आरक्षण की व्यवस्था ठीक प्रकार से कार्यान्वित होनी चाहिए। कल्याण सिंह का यह कहा जाना कि ‘यदि आरक्षण न मिले तो डंडा मारकर ले लो उनके अपने विचार हैं’, लेकिन उनके कथन को समझने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि कल्याण सिंह का अपना काफी लंबा अनुभव है तथा उन्होंने जो भी कहा है काफी सोच विचार के बाद कहा है। उसका केवल इतना अर्थ निकाला जाना चाहिए कि किसी भी हकदार को उसका हक मिलना चाहिए। एक अन्य प्रश्न के उत्तर में उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश की पूर्व की अखिलेश सरकार हो चाहे वर्तमान की योगी सरकार दोनों ही मेरी सरकारें हैं इसलिए मैं उनकी तुलना में अच्छे और खराब नहीं कह सकता लेकिन उन्होंने परोक्ष रूप से तुलना करते हुए कहा कि मैंने सपा सरकार को दो सलाह दी थी जिसमें पहला लोकमान्य तिलक के सम्मान में कार्यक्रम आयोजित करने और दूसरा 24 जनवरी को उत्तर प्रदेश के स्थापना दिवस पर कार्यक्रम आयोजित करने की सलाह दी थी लेकिन अखिलेश ने उस पर ध्यान नहीं दिया जबकि वही सलाह मैंने योगी सरकार आने पर उन्हें भी दी और उन्होंने भव्य आयोजन किया।

चलते रहने वालों की ही होती है प्रगति

कार्यक्रम स्थल पर आयोजित सभा को संबोधित करते हुए राज्यपाल ने प्रदेश वासियों को चेताते हुए कहा कि सोने, बैठने और खड़ा होने वाले की प्रगति नहीं होती लेकिन जो चलता रहता है उसकी ही प्रगति होती है इसलिए चरैवेती-अगले साल प्रयाग में आयोजित होने वाले कुंभ की चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि पूरे विश्व से 13से 14 करोड़ लोग इस मेले में सम्मिलित होंगे। प्रदेश के बाहर से आए हुए सभी लोग हमारे अतिथि हैं इसलिए मेरा अह्वान है कि प्रदेशवासी सभी अतिथियों का भरपूर स्वागत और सेवा करने के लिए अधिकाधिक संख्या में वहां पहुंचें। ‘डाक्टर्स डे’ की चर्चा करते हुए राज्‍यपाल ने कहा कि देश में मोदी और प्रदेश की योगी सरकार स्वास्थ्य सेवाओं को अधिक और अधिक अच्छा करने में जुटी है।

कई कार्यक्रमों में हुए शामिल

राज्यपाल यहां रानी दुर्गावती देवी तीरंदाजी केंद्र, वनवासी कल्याण आश्रम का आवासीय छात्रावास एवं 1000 लोगों की क्षमता वाले भोजनालय का उद्घाटन करने के लिए यहां आए थे। इस अवसर पर एनटीपीसी रिहंद की ओर से आदिवासियों में 40 सिलाई मशीन का वितरण किया और आश्रम में वृक्षारोपण भी किया गया। कार्यक्रम में प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने कहा कि आगामी अक्टूबर तक जिला मुख्यालय पर 400 बेड का अस्पताल तैयार हो जाएगा। इसके बाद उसे सुपर स्पेशिलिटी सेंटर के रूप में उच्चीकृत किया जाएगा। जिले की प्रभारी मंत्री श्रीमती अर्चना पांडे ने आए हुए अतिथियों का स्वागत किया। इस मौके पर विभिन्न जिलों से यहां आये लगभग 125 चिकित्सकों का दल यहां के अतिरिक्त सीमावर्ती अन्य चारों प्रांतों में पांच दिवसीय सचल चिकित्सा सेवा पांच टोलियों में देंगे जिसमें स्वास्थ्य जांच के उपरांत जन सहयोग से आए दस लाख की दवाओं का भी वितरण करेंगे।

admin

No Comments

Leave a Comment