गोरखपुर। योगी राज में पूर्व मंत्री हरिशंकर तिवारी की मुश्किलें बढ़ने लगी हैं।  लूट के एक मामले में स्थानिय पुलिस ने शहर के धर्मशाला स्थित आवास (हाता) पर पुलिस ने छापा डाला है। पुलिस अपने साथ वहां से छह लोगों को पूछताछ के लिए ले गई है। खबरों के मुताबिक लुटेरों की तलाश में पुलिस ने हरिशंकर तिवारी के घर पर छापा मारा है। छापेमारी के बाद शहर का सियासी पारा चढ़ने लगा है।

aaaaaaaaaaaaaaaaaaaaaaaaaaa

एसपी सिटी की अगुवाई में हुई छापेमारी

शाम ठीक चार बजे एसपी सिटी हेमराज मीणा के नेतृत्व में आधा दर्जन थानों की पुलिस ने पूर्व मंत्री के आवास को घेर लिया। आवास के चारों प्रवेश द्वारों पर पुलिसकर्मी खड़े हो गए। इसके बाद एसपी सिटी ने कुछ पुलिसकर्मियों के साथ आवास की तलाशी ली। इस दौरान वहां से छह लोगों को पकड़कर पुलिस की गाड़ी में बैठा लिया गया।  बताया जा रहा है कि 14 मार्च 2017 को रिलायंस कंपनी के अकाउंट में जमा होने जा रहे 98 लाख रुपए की गोरखपुर में लूट हो गई थी।  पुलि‍स ने त्वरित कार्रवाई की और बलि‍या के रहने वाले छोटू चौबे को अरेस्ट कि‍या। वहां से 31 लाख रुपए बरामद हुए। पूछताछ में उसने पुलिस को बताया कि‍ बाकी के 67 लाख रुपए वहां के क्र‍िमि‍नल बैकग्राउंड के विजय यादव के पास हैं। उसके बारे में एक शख्स सोनू पाठक को जानकारी है। वह हरिशंकर ति‍वारी के यहां रहते हैं।
यह जानकारी मिलते ही एसपी सिटी हेमराज ने कई थानों की फोर्स के साथ शनिवार शाम 4.17 बजे हरि‍शंकर तिवारी के घर छापेमारी की।

बीएसपी विधायक ने लगाए आरोप

पूर्व मंत्री के विधायक पुत्र विनय शंकर तिवारी ने छापामारी को सरकार के इशारे पर की गई कार्रवाई बताया है। उनके मुताबिक जिस वक्त पुलिस ने यह कार्रवाई की उस वक्त वह टीडीएम इंटर कालेज में प्रबन्धकीय बैठक कर रहे थे। सूचना मिलते ही वह अपने आवास पर पहुंचे। तब तक तलाशी पूरी कर लौट रहे एसपी सिटी से उनकी बात हुई।  उधर, एसपी सिटी हेमराज मीणा ने बताया कि कुछ दिन पहले सहजनवा में हुए एक लूटकांड के मामले में वांक्षित सोनू पाठक की तलाश में पुलिस ने यह कार्रवाई की।

 

admin

No Comments

Leave a Comment