गुड न्यूज: वाराणसी पुलिस नंबर वन, आईजीआरएस की शिकायतों के निस्तारण में प्रदेश का पहला स्थान

वाराणसी। जिले की पुलिस का अधिकांश समय वीवीआईपी ड्यूटी में लग जाता है और कानून-व्यवस्था का मोर्चा इसके बाद आता है। बावजूद इसके प्रदेश सरकार की आनलाइन शिकायत प्रणाली जनसुनवाई पोर्टल (आईजीआरएस) से प्राप्त शिकायतो के निस्तारण में वाराणसी पुलिस को प्रथम स्थान मिला है। मिलने वाली शिकायतें जिला पुलिस ने समयबद्ध व गुणवत्तापूर्ण निस्तारण करने में पूरे प्रदेश में जनवरी-2020 में भी जारी की गयी रैकिंग में यह स्थान पाया है। पुलिस के जनसुनवाई पोर्टल पर प्राप्त सन्दर्भो का जब सीएम आफिस से मूल्यांकन किया गया तो प्रदेश के सभी 75 जनपदो में से जनपद वाराणसी की कार्यवाही शत प्रतिशत रही और रैंक प्रथम रहा।

कप्तान खुद करते हैं मानीटरिंग

एसएसपी प्रभाकर चौधरी खुद जनसुनवाई पोर्टल पर प्राप्त शिकायतों को त्वरित व समयबद्ध निस्तारण हेतु जनपद के समस्त अधिकारी व थाना प्रभारियों को हमेशा निर्देशित करते हैं। उनके स्तर पर आईजीआरएस के कार्यो की खुद मानीटरिंग की जाती है। जनसुनवाई पोर्टल से प्राप्त शिकायतो को पुलिस कार्यालय में गठित आईजीआरएस सेल द्वारा संबंधित थानों पर आनलाइन प्रेषित की जाती है। थाना प्रभारी द्वारा प्राप्त सन्दर्भो की जांच आख्या आनलाइन दिये गये समय के अनुसार संबंधित को प्रेषित की जाती है और वादी पुलिस कार्यवाही से सन्तुष्ट है कि नहीं इसका फिडबैक भी पुलिस कार्यालय के आईजीआरएस सेल द्वारा लिया जाता है।

नोडल अधिकारी रोजाना करते चेक

एक तरफ फीडबैक लिये जाने से जहां की गयी जांच या पुलिस कार्यवाही की गुणवत्ता ठीक होती है वहीं संबंधित पुलिसकर्मी पर दबाव बना रहता है। यही नहीं आईजीआरएस सेल के नोडल अधिकारी पुलिस अधीक्षक प्रोटोकॉल औक पुलिस अधीक्षक ग्रामीण के द्वारा दिन प्रति दिन मानिटरिंग की जाती है। आनलाइन शिकायत प्रणाली जनसुनवाई पोर्टल पुलिस कार्यालय आईजीआरएस सेल द्वारा लगन व परिश्रम से कार्यो का सम्पादन किया जाता है।

Related posts