वाराणसी। घरवालों ने पढ़ने के लिए काशी भेजा था। फीस और हास्टल के अलावा दूसरे खर्चो के लिए प्रतिमाह खासी रकम भी देते थे। बावजूद इसके हास्टल में रहते हुए गर्लफ्रैंड के शौक पाल लिये तो रकम कम पड़ने लगी। मंहगे शौक पूरा करने के लिए कोई दूसरा रास्ता नहीं सूझा तो चोर बन गये। क्राइम ब्रांच प्रभारी विक्रम सिंह और इंस्पेक्टर शिवपुर विजय बहादुर ने छापेमारी अभियान में जिन चार युवकों को गिरफ्तार कर 19 बाइक बरामद की उनसे पूछताछ में चौंकाने वाले खुलासे हुए हैं। एसएसपी आनंद कुलकर्णी ने मंगलवार को मीडिया के सामने पेश करते हुए बताया कि गर्लफ्रैंड के साथ आरोपित मुंबई-दिल्ली समेत कई स्थानों पर फ्लाइट से जाने के संग मंहगे होटलों में रुकते थे। संख्या काफी अधिक होने के चलते अब तक कितने वाहनों को चुरा चुके हैं यह भी इन्हें याद भी नहीं।

आसपास के जिलों में वाहनों को थे बेचते

गिरफ्तार आरोपितों में शिवम सिंह जलालपुर जौनपुर, अखिलेश यादव करंडा गाजीपुर, करन सिंह उर्फ बीरू जेऊरी सैय्यदराजा, चंदौली और सुजीत कुमार सिंह आशापुर सारनाथ शामिल हैं। इन्होंने कबूल किया कि हम लोग उदय प्रताप कालेज वाराणसी में हास्टल में रह कर पढ़ाई कर रहे है। अपने व अपनी गर्लफ्रेन्ड का शौक पुरा करने के लिए विभिन्न स्थानों से मोटर साईकिल चोरी कर उन्हें बिहार, चन्दौली, मीरजापुर, गाजीपुर आदि विभिन्न जिलों में औने-पौने दाम में बेचकर पैसा कमाते है। किसी को शंका न हो इसलिए चोरी की मोटर साईकिलें लगभग रोज स्थान बदल-बदल कर इधर-उधर खड़ा कर देते है और जैसे ही ग्राहक सेट हो जाता है उसे बेच देते है। यह काम हम लोग काफी दिनों से कर रहे है हम लोगों को याद नही है कि कहां कहां से चोरी किये है। ज्यादातर कचहरी, भोजुबीर, गिलटबाजार, बिगबाजार आदि स्थानों से बाइक चोरी किये हैं। जब भी हम लोग पुलिस द्वारा चेकिंग के दौरान पकड़े जाते है तो यूपी कालेज का पहचान पत्र दिखा कर छुट जाते है। यदि कभी पब्लिक शक होने पर पकड़ लेती है तो कालेज के कई लड़कों को बुलाकर हंगामा कर भाग जाते है।

फायरिंग तक से नहीं चूके

आरोपितों का कहना था कि हम लोग मोटर साइकिलें बेचकर उन पैसों से बिहार से दो पिस्टल भी खरीद कर लाये थे जो हमारे दोस्त के पास है। उसी पिस्टल से यूपी कालेज के अंदर डेयरी फार्म के गार्ड को हम लोगों के दोस्त ने मई के महीने में रात में हल्का विवाद होने पर गोली मार दिया था हालाकि गार्ड बच गया था। हम लोग एक साथ मिलकर चोरी करते है और मोटर साईकिल बेचने पर जो पैसा मिलता है उसे आपस में बांट लेते है और महंगे कपड़े, जुते और गर्लफ्रेंण्ड के लिए गिफ्ट भी खरीदते है।

admin

No Comments

Leave a Comment