सोनभद्र। राबर्ट्सगंज रेलवे स्टेशन पर 6 नवंबर को अभियंता के उपर थूकने के संग मारपीट करने के बाद फर्जी वीजा पर भारत में रहने वाला जर्मन नागरिक हेरिक होल्कर पुलिस को चकमा देकर फरार होने में सफल रहा। हेरिक होल्कर को पुलिस कुल्लू पेशी पर लेकर जा रही थी लेकिन जर्मन नागरिक इलाहाबाद से फरार हो गया। सोनभद्र पुलिस ने इस संबंध में उसकी फरारी की रिपोर्ट इलाहाबाद के धूमनगंज थाने में दर्ज करायी है। विदेशी को पेशी पर लेकर जाने वाले तीन सिपाही व एक दारोगा को एसपी ने निलंबित कर दिया है।

देर से पचा चला फरारी का

सोनभद्र के गुरमा स्थित जिला कारागार में निरुद्ध जर्मन नागरिक हेरिक होल्कर की हिमाचल प्रदेश के कुल्लू न्यायालय में पेशी थी। उसे लेकर रविवार की रात त्रिवेणी एक्सप्रेस से तीन सिपाही व एक दारोगा कुल्लू जा रहे थे। बताया गया कि सोमवार की सुबह ट्रेन इलाहाबाद स्टेशन पहुंची। जहां साथ चल रहे पुलिस कर्मियों को चकमा देकर हेरिक होल्कर कहीं फरार हो गया। इस दौरान काफी खोजबीन के बाद सोनभद्र के एसपी को सूचना दी गई। इसके बाद एसपी के निर्देश पर सिपाहियों ने धूमनगंज थाने में इस मामले की रिपोर्ट दर्ज करायी। इसके बाद एसपी ने पुलिस कर्मियों को निलंबित कर दिया।

रेलवे पुलिस ने की थी गिरफ्तारी

गौरतलब है कि हेरिक होल्कर की छह नवंबर को कहीं जाते समय राबर्ट्सगंज रेलवे स्टेशन पर किसी बात को लेकर कुछ लोगों से मारपीट हो गई थी। इस दौरान लोगों की शिकायत पर उसे रेलवे पुलिस ने गिरफ्तार कर राबर्ट्सगंज पुलिस को सौंप दिया था। जहां जांच के दौरान पता चला कि उसका वीजा फर्जी है और वह गलत ढंग से यहां रह रहा था। इस मामले में स्थानीय न्यायालय ने भी इसे सजा दी थी। इसके बाद उसको जिला जेल, गुरमा में रखा गया था।

admin

No Comments

Leave a Comment