मीरजापुर। विंध्याचल कोतवाली क्षेत्र के एक गांव में शनिवार की रात बारात में आए दो युवको ने किशोरी को बहला-फुसला कर सिवान में ले जाकर सामूहिक दुष्कर्म किए। रविवार को दोपहर में पीड़िता के परिजन गैपुरा चौकी पर तहरीर लेकर पहुंचे लेकिन पुलिस ने मामले को दबाए रखा। सोमवार को जब इसकी जानकारी पुलिस अधीक्षक आशीष तिवारी को हुई तो वे मौके पर पहुंच कर मामले की पड़ताल कर पास्को एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कराया। एसपी ने बताया कि फौरी तौर पर दो युवको के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है। एक युवक को हिरासत में ले लिया गया है। बताया जा रहा है कि युवक शादी में आए थे। गांव के किसी युवक की मदद से बाइक से किशोरी को दूसरे गांव ले गए। मुकदमा दर्ज करने के बाद किशोरी का मेडिकल कराया जाएगा। उसके बाद किशोरी का मजिस्ट्रेटी बयान दर्ज कर विधिक कार्रवाई की जाएगी।

12 घंटे के बाद छोड़ा था पीड़िता को

शनिवार की रात गांव में आयी बारात में मध्य प्रदेश और इलाहाबाद से दो युवक आए थे। दोनों युवको ने गांव की एक हाईस्कूल की छात्रा को बाइक से बहला-फुसला कर दूसरे गांव के सिवान में ले गए। युवको ने गांव के एक युवक से बाइक मांगी थी। दोनों युवको ने सिवान में किशोरी के साथ दुष्कर्म किया। लगभग 12 घंटे बाद वे किशोरी को गांव में लाकर छोड़ दिए। किशोरी ने परिजनो को पूरी बात बताई। परिजन सामूहिक दुष्कर्म का आरोप लगाकर रविवार की रात गैपुरा पुलिस चौकी पहुंचे। चौकी पुलिस मामले को काफी देर तक दबाए रखा। विंध्याचल कोतवाल भी मामले में कुछ नहीं बता रहे थे। इस बीच मामले की जानकारी होने पर एसपी ने गंभीरता से लेते हुए खुद मौका मुआयना कर कार्रवाई करायी।

admin

No Comments

Leave a Comment