बलिया। महिलाओं के साथ होने वाले अपराधों पर अंकुश के लिए भले ही सरकार के संग पुलिस दावे करती है लेकिन जमीनी हकीकत इससे इतर है। ताजा मामला हल्दी थाना क्षेत्र के एक गांव का है जहां शुक्रवार की शाम खेत में शौच करने गई दलित महिला के साथ गांव के ही दो युवकों ने सामूहिक बलात्कार करने के संग कपड़े भी फाड़ दिए। इसी तरह रसङा थाना क्षेत्र के एक गांव में टेंपो चालक ने 6 वर्षीय मासूम बालिका को बहला-फुसलाकर एक सुनसान जगह पर ले जाने बाद उसके साथ अश्लील हरकत की। दोनों ही मामलों में तहरीर के आधार पर मुकदमा कायम कर पुलिस आरोपितों की तलाश कर रही है।

घात लगा कर मौजूद थे आरोपित

हल्दी थाने में दी गयी तहरीर में पीड़िता ने आरोप लगाया है कि देर शाम शौच के लिए वह गयी तो वहां नरेंद्र सिंह एवं हरिद्वार सिंह पहले से मौजूद थे। दोनों ने सामूहिक बलात्कार किया उसके कपड़े भी फाड़ दिए। चंगुल से छूट कर पीड़िता घर पहुंची और वारदात की जानकारी परिजनों को दी। पुलिस ने आईपीसी की धारा 376 डी, 323, 504 व 3(2)5 एससी ,एसटी एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कर आरोपितों की तलाश शुरू कर दी है।

बच्ची के शोर मचाने पर भागा आरोपित

रसड़ा थाना क्षेत्र निवासी टेंपो चालक अफजल शुक्रवार की शाम अपने ही गांव की एक मासूम 6 वर्षीय बालिका को बहला-फुसलाकर टैंपू में एक सुनसान स्थान पर ले गया। एकांत में बच्ची के नाजुक अंगों को नाखून से कुरेदा एवं उसके साथ अश्लील हरकतें की। जब बच्ची चीखने चिल्लाने लगी तो आसपास के लोगों ने इस घटना की सूचना उसके परिजनों को दी। पीड़िता के पिता के लिखित तहरीर पर स्थानीय थाना थाना में धारा 354, 294 व 7/8 पास्को एक्ट के तहत मुकदमा पंजीकृत दर्ज कर आरोपित की तलाश शुरू कर दी है।

admin

Comments are closed.