बलिया। कानून-व्यवस्था और महिला उत्पीड़न को लेकर सीएम से लेकर डीजीपी जो भी दावे करे लेकिन हालात बदतर होते जा रहे हैं। ताजा मामला रेवती थाना क्षेत्र का है जहां 15 वर्षीया नाबालिक किशोरी के साथ सामूहिक दुराचार का मामला प्रकाश में आया है। पीड़िता के पिता द्वारा स्थानीय थाने में एक नामजद तथा दो अज्ञात के विरुद्ध तहरीर दी गई है। पुलिस ने मुकदमा तो कायम कर लिया लेकिन गैंगरेप के बदले दुष्कर्म बताया है। नामजद को गिरफ्तार कर लिया गया है जबकि पीड़िता का मेडिकल मुआयना से लेकर मजिस्ट्रेट के समक्ष कलमबंद बयान होना शेष है।

शोर मचाने पर भागे आरोपित

नाबालिग किशोरी के पिता की तहरीर के मुताबिक मेरी पुत्री बुधवार की रात घर के आंगन में सोई हुई थी। इसी बीच भोपालपुर निवासी मंटू यादव पुत्र परमात्मा यादव तथा दो अज्ञात लोग मेरे लड़की को जबरदस्ती उठाकर घर के पूरब दिशा में स्थित गेहूं के खेत में ले जा कर उसके साथ बलात्कार किया। किशोरी के शोर मचाने पर मैं तथा मेरी पत्नी एवं अन्य लोग उधर पहुंचे। जिसे देख कर उक्त लोग जातिसूचक शब्दों का प्रयोग करते हुए जान से मारने की धमकी देते हुए भाग गए। उधर एसएचओ सुरेश सिंह ने बताया कि जांचोपरांत यह तथ्य सामने आया कि घटना में एकमात्र मण्टू यादव ही संलिप्त है। पुलिस ने मण्टू के विरुद्ध धारा 376 आईपीसी, 3/4 पास्को एक्ट के तहत पंजीकृत करते हुए उसे गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।

admin

No Comments

Leave a Comment