वाराणसी। विशेष न्यायाधीश (गैंगस्टर एक्ट) राजीव कमल पांडेय की अदालत ने लंबित गैंगस्टर एक्ट के मुकदमे में अगली सुनवाई के लिए 16 फरवरी की तिथि मुकर्रर की है। इस अदालत में आरोपी एमएलसी और उनके भाई हृदय नारायण सिंह उर्फ हरि सिंह के खिलाफ गैंगस्टर एक्ट की मुकदमे की सुनवाई चल रही है। इसी मामले में अदालत ने गवाही देने के लिए हीरावती देवी की ओर से बार-बार प्रार्थना पत्र दिए जाने पर कडा एतराज जताते हुए प्रार्थना पत्र को खारिज कर दिया। मंगलवार को इसी अदालत में सिकरौरा नरसंहार कांड मुकदमे की सुनवाई होनी है।

एमएलसी बृजेश की तरफ पेश हुए साक्ष्य

चौबेपुर पुलिस ने वर्ष 1995 में दोनों भाइयों के खिलाफ गैंगस्टर एक्ट का मुकदमा दर्ज किया था। पुलिस द्वारा आरोपियों के खिलाफ दाखिल गैंगचार्ट में कई मुकदमों को दशार्या गया है। मुकदमे में तत्कालीन थानाध्यक्ष समेत अन्य गवाहों का बयान दर्ज हो चुका है। सोमवार को सुनवाई के दौरान आरोपीयों की ओर से अपने सफाई में साक्ष्य पेश किया गया। इलाज के लिए आरोपी बृजेश सिंह के बीएचयू में भर्ती रहने और भाई चुलबूल सिंह के मृत्युपरांत श्राद्ध कर्म में व्यस्तता के कारण हृदय नारायण सिंह उर्फ हरि सिंह अदालत में हाजिर नहीं हो सके थे।

admin

No Comments

Leave a Comment