जानलेवा साबित हुआ गंगा स्नान, डूबने से तीन छात्रों की गयी जान जबकि दो के बचाये गये प्राण

वाराणसी। लोकसभा चुनाव के चलते स्कूल से लेकर कालेज तक की छुट्टी थी। इसका फायदा उठाते हुए बच्चों ने अपने अंदाज में पिकनिक से लेकर क्रिकेट खेलने व गंगा स्नान का प्लान बना लिया। रामनगर थाना क्षेत्र के पांच बच्चे गंगा तीरे सुबह सवेरे नहाने को गए लेकिन उन्हें क्या पता था कि काल यहीं बाट जोह रहा है। नहाते समय अचानक तीन लड़कों को पैर फिसला और गहरे पानी में बहते चले गए। काफी मशक्कत के बाद भी मझधार से बाहर निकल नहीं पाए। गंगा स्नान करने गए और दूसरे लड़कों ने उन्हें डूबता देख शोर मचाना शुरू किया। कुछ देर में वहां पहुंचे स्थानीय लोगों ने रामनगर पुलिस व एनडीआरएफ को सूचना दी जिन के जवानों ने व गोताखोर ने काफी काफी मशक्कत के बाद तीनों युवकों की लाशें निकाले। हादसे के चलते कोहराम मच गया।

घरवालों को भी नही बताया था प्लान

हादसे का शिकार होने वालों में सूर्यप्रताप सिंह,पीयूष मिश्रा व प्रियांशु पटेल शामिल हैं। तीनों रामनगर के डीएवी स्कूल के 9वी कक्षा के छात्र है। ये सभी अपने पांच दोस्तो के साथ गंगा नहाने गए थे लेकिन घरवालों को भी इसकी जानकारी नहीं दी थी। मृतक सूर्यप्रताप सिंह के पिता राजेश सिंह 36वी वाहिनी पीएसी के डिप्टी कमांडेंट के चालक आरक्षी है। बाकी दोनो के पिता प्राइवेट कर्मचारी है। सूर्यप्रताप व पीयूष कोदोपुर रामनगर के रहने वाले है जबकि प्रियांशु पटेल कटेसर मुगलसराय का रहने वाला है।

Related posts