एटीएम, पेट्रोल पंप से लेकर शापिंग मॉल तक एटीएम कार्ड की ‘क्लोनिंग’ करने वाले जालसाज हैं तैयार, पुलिस का सनसनीखेज खुलासा

आजमगढ़। जिले के कप्तान प्रो. त्रिवेणी सिंह को प्रदेश पुलिस में ‘सुपर हाइटेक’ का खिताब दिया जाता है। साइबर क्राइम में महारथ के चलते उन्हें नाम के आगे ‘प्रोफेसर’ लगाने की अनुमति यूं ही नहीं मिली है। बुधवार को उनके निर्देशों पर काम कर पुलिस ने एटीएम कार्ड की क्लोनिंग एवं एटीम मशीन हैंग करके बैंक खातों से पैसा निकालने वाले गिरोह के अंतरराज्यीय 25 हजार इनामियां सहित चार सदस्य गिरफ्तार किया है। तलाशी में उनके पास से कार्ड क्लोनिंग उपकरण व कार बरामद हुई है।

इस तरह किया जाता है फर्जीवाड़ा

गिरफ्तार आरोपितों ने कबूल किया कि संगठित रूप से एटीएम एवं बैंको के आस-पास सक्रिय होकर लोगों के एटीएम कार्ड की डिटेल या एटीएम पिन धोखे से प्राप्त करते हैं। एमेजन, इण्यिामार्ट, अलीबाबा जैसे वेबसाइट्स से एमएसआर डिवाइस आर्डर करते हैं। एटीएम मशीनों के पास, पेट्रोल पम्पो, ग्राहक सेवा केन्द्रो और शांपिग माल में सेटिंग कर वहां आने वाले ग्राहको के क्रेडिट या डेबिट कार्ड के मैगनेटिक स्ट्रिप का डाटा एमआरएस डिवाइस या स्कीमर की सहायता से स्कैन कर लेते हैं। डाटा प्राप्त करने के बाद टफर साफ्टवेयर एंव डिवाइस के माध्यम से ब्लैंक कार्ड पर मैगनेटिक स्ट्रिप के डाटा को राइट कर उस कार्ड का क्लोन तैयार करते हैं। हमलोग यह कार्य जनपद आजमगढ़, मऊ, जौनपुर, गोरखपुर, इलाहाबाद सहित रायपुर, छत्तीसगढ़, बिहार, झारखंड राज्य में अपनी कार का नम्बर प्लेट बदलकर घटनाओं को अंजाम देते है।

फर्जीवाड़े से खरीदी लक्जरी कार

एसपी के निर्देश पर चलाये जा रहे अभियान के तहत मिले निर्देशों पर इंस्पेक्टर मुबारकपुर अखिलेश कुमार मिश्रा ने लक्जरी कार को चेकिंग के दौरान रोका तो उसमें से चार संदिग्ध पकड़े गये। कडाÞई से पूछताछ में सभी ने एटीएम कार्ड की क्लोनिंग कर बैंक खातों से पैसे निकालने का अपराध स्वीकार किया। तलाशी में उनके पास से कार्ड क्लोनिंग रिडर डिवाइस, 13 एटीएम कार्ड, 2 अदद ब्लैंक एटीएम कार्ड(क्लोनिंग हेतु), 4 मोबाइल फोन और 11500 रुपया बरामद हुआ। बरामद उपकरण व पैसे के सम्बन्ध में बताया कि यह पैसा दिनांक 30 दिसंबर को एक्सीस बैंक एटीएम रोडवेज मुबारकपुर के पास से एटीएम कार्ड क्लोन करके 30 हजार रुपए निकाला था। आगे भी पैसा निकालने के लिए हमने क्लोनिंग डिवाइस से उस एटीएम कार्ड का क्लोन भी तैयार कर लिया था। इसी प्रकार के फ्राड के पैसों से हमने यह कार खरीदी है।

Related posts