जौनपुर। राजापुर-नगवां गांव (मड़ियाहूं) से रविवार की दोपहर दो परिवार की चार लड़कियां बगल के गांव मैनपुर स्थित तालाब में कपड़ा धोने गयी थी। इसी बीच एक छोटी बच्ची अमीशा (12) नहाते समय जब डूबने लगी तो तीनों बहनें उसे बचाने के लिये तालाब में कूद पड़ी। एक-दूसरे को बचाने के चक्कर में चारों लड़कियां डूब गई। ग्रामीणों ने किसी तरह से चारों निकालकर सामुदायिक स्वास्थ्य मड़ियाहूं पहुंचाया लेकिन रास्ते में ही सभी की मौत हो गई थी। हादसे के चलते पूरे गांव में गमगीन माहौल है। हर तरफ खामोशी छायी हुयी थी। पुलिस ने सभी के शवों को कब्जे में लेकर पंचनामा कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

हर रविवार जाती थी कपड़े धोने

राजापुर गांव (नगवां) निवासी पूजा (17) राजनाथ इंटर कॉलेज ककराहीं 12वीं की छात्रा थी। ननिहाल में रहकर पढ़ाई कर रही थी। ननिहाल में सिर्फ उसकी नानी फुलगेना देवी रहती है और सारे घर के लोग बाम्बे में कार्य करते हैं। पूजा का घर सीतम सराय विजयगढ़ (नेवढ़िया) है। उधर अच्छे लाल पटेल की तीन पुत्रियां क्रमश: रोमा (19) दूधनाथ सिंह महाविद्यालय मड़ियाहूं की बीए द्वितीय वर्ष की छात्रा थी और रेनू (15) राजनाथ इंटर कालेज ककराही की छात्रा थी। छोटी अमीषा नरायणपुर प्राथमिक विद्यालय 7वीं की छात्रा थी। हर रविवार ती तरह चारों गांव के बगल में स्थित एक तालाब में कपड़ा धोने गई थी। इसी बीच अमीशा तालाब में नहाने लगी और जब उसका पैर फिसल गया और डूबने लगी तो चीख सुनकर तीनों बहनें उसे बचाने के लिए कूद पड़ी और एक दूसरे को बचाने के चक्कर में चारों डूब गयी।

संयोग था कि नहीं गयी थी मां

लड़कियों के घर पर कोहराम मच गया। नानी फुलगेना का रो-रोकर बुरा हाल है। वर्तमान समय पर घर पर कोई पुरुष नहीं है। मृतक तीनों लड़कियों की माता ऊषा देवी का रो रोकर बुरा हाल हो गया है। रु ंधे हुये स्वर मां ने बताया हर रविवार को घर की लड़कियां के संग वह कपड़ा धोने के लिए तालाब में जाती थी। आज नहीं गयी तो यह हादसा हो गया। ऊषा देवी को छह लड़कियां थी। दो की शादी हो चुकी है तीन मर गयी अब एक छोटी है।

admin

No Comments

Leave a Comment