जौनपुर। बिठुआ कला स्थित ससुराल में रविवार की रात संदिग्ध हालात में झुलसी पूर्व राज्यमंत्री दर्जा प्राप्त सपा नेत्री संगीता यादव निजी अस्पताल में शिफ्ट हो गया है। अस्पताल में उन्होंने आरोप लगाया कि पति, सास और ससुर जमीन लेने और कारोबार करने की खातिर उनसे एक करोड़ रुपये की डिमांड कर रहे थे। विवाह के चौथे दिन से ही उन्हें प्रताड़ित किया जाने लगा था। मायके वालों ने शादी में एक टाटा सफारी एवं अन्य सामान दिया था। दूसरी तरफ श्वसुर जयनाथ यादव की गिरफ्तारी से भड़की सास प्रभावती का कहना है कि संगीता मनमानी करती थीं। रोकने-टोंकने पर मुकदमे में फंसाने की धमकी देती थीं। रविवार को अपने दर्जनों समर्थकों के साथ आई और रुपयों की मांग की। इनकार करने पर जलाने का ड्रामा रच डाला। एसपी दिनेश पाल सिंह का कहना है कि संगीता यादव के भाई धर्मेन्द्र की तहरीर पर पति दुर्गेश यादव, ससुर जयनाथ यादव, सास प्रभावती यादव के खिलाफ रपट दर्जकर जयनाथ को गिरफ्तार कर लिया गया है।

पति के न आने से टली थी पंचायत

बताया जाता है कि संगीता बिठुआ कला में दो दिन पहले आ गई थीं। रविवार को ससुराल वालों से विवाद में पंचायत बुलाई गई थी लेकिन पति के न आने से यह टल गयी। पति से संगीता की महीनों से बातचीत बंद थी। मामला तलाक तक पहुंच चुका था तब पंचायत की नौबत आयी। पति से अनबन के बाद संगीता यादव ने अपनी ताकत का अहसास कराया था। कुछ माह पहले पूजा-पाठ के बहाने सैकड़ों लोगों की बिठुआ कला में जुटान हुई थीं, जिसमें सपा के दिग्गज शामिल थे। दूसरी तरफ संगीता से जुड़े लोगों का कहना ह,ै दुुर्गेश की नजर संगीता यादव के दिल्ली, लखनऊ एवं जौनपुर के नईगंज स्थित मकानों पर थी। इसी से विवाद शुरू हुआ और संगीता लखनऊ के गोमती नगर के अपने मकान में रहने लगी।

admin

No Comments

Leave a Comment