जौनपुर। चर्चित बिरहा गायिका, ललित कला अकादमी की उपाध्यक्ष रह चुकी पूर्व दर्जा प्राप्त राज्यमंत्री संगीता यादव रविवार की रात संदिग्ध हालात में संभीर रूप से झुलस गयी। विठुआ कलां (बदलापुर) स्थित ससुराल में वारदात के बाद संगीता को जिला अस्पताल लाया गया जहां उनकी दशा स्थिर बनी है। संगीता का आरोप है कि ससुरालवालों ने उन्हें जिंदा जलाकर मारने की कोशिश की। घटना के बाद से पति फरार है और बड़ी संख्या में सपाइयों का जिला अस्पताल में जमावड़ा लगा है। इस मामले में पुलिस का कहना है कि सूचना पर पहुंची डायल 100 ने अस्पताल पहुंचा दिया था। संगीता को पूर्व कैबिनेट मंत्री और समाजवादी सेक्युलर मोर्चा के अध्यक्ष शिवपाल यादव का करीबी माना जाता है।

सपा शासनकाल में थी खासी हनक

मूल रूप से कताहित (मछलीशहर) निवासिनी संगीता यादव का विवाह 2016 में विठुआ कला निवासी दुर्गेश यादव के साथ हुआ था। इस विवाह में शिवपाल समेत सपा के तमाम दिग्गज शामिल हुए थे। सपा सरकार में संंगीता की खासी हनक थी और अधिकारी उनके आदेश को नदरंदाज करने का हौसला नहीं जुटा पाते थे। सूबे में सत्ता परिवर्तन के बाद राज्यमंत्री का दर्जा छिन गया तो संगीत यादव का बुरा वक्त शुरू हो गया। दूसरों को छोड़िये ससुरालवाले भी तेवर बदल कर आंखे दिखाने लगे थे।

काफी दिनों से विवाद, हुई थी पंचायत

लखनऊ में पति के संग रहने वाली संगीता तीन दिन पहले अपनी ससुराल विठुआ कला आई थीं। चर्चाओं के मुताबिक दम्पति में काफी दिनों से विवाद था। पारिवारिक विवाद को लेकर तीन दिन पहले ससुराल में पंचायत भी हुई थी। जिला अस्पताल में मीडिया से बातचीत में संगीता ने सास-ससुर के संग पति पर गंभीर आरोप लगाये। दावा था, बीती रात वह कमरे में सो रही थीं तभी उसे बुलाया। जबरन हाथ बांध कर केरोसिन डाल आग लगा दी। बचाव की गुहाार सुनकर जेठानी दौड़कर नीचे से आई। मामला हाई प्रोफाइल होने के नाते पुलिस कुछ कहने से बच रही है लेकिन हालात पर नजर रखे है। देर शाम तहरीर मिलने पर एफआईआर दर्ज की जा रही थी।

admin

No Comments

Leave a Comment