जौनपुर। ब्लाक प्रमुख खुटहन सरयू देवी के खिलाफ लाए गए अविश्वास प्रस्ताव को लेकर सोमवार को प्रतापगढ़ सांसद हरिवंश सिंह की चली। अपने करीबी को ब्लाक प्रमुख की कुर्सी पर बैठाने के साथ उन्होंने विरोध करने वालों को संगीन धाराओं के तहत नामजद करा दिया। मतदान के दौरान दोनों पक्षों के समर्थकों में गाली-गलौज के बाद पथराव और फायरिंग के आरोपो के बीच देर शाम तक गहमा-गहमी चली। नतीजा, खुटहन ब्लाक प्रमुख के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव फैली अराजकता को स्वत: संज्ञान में लेते हुए खुटहन थानाध्यक्ष राममूर्ति यादव की तहरीर पर देर रात्रि थाने में पूर्व सांसद धनन्जय सिंह, शाहगंज विधायक व पूर्व मंत्री शैलेन्द्र यादव ललई, एमएलसी बृजेश सिंह प्रिंसू सहित आठ नामजद एवं डेढ़ सौ अज्ञात लोगों के खिलाफ विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है।
तीन अलग मामले दर्ज किये गये हैं
संगीन वारदात में तहरीर देने के बावजूद रपट न दर्ज करने का आरोप झेलने वाली पुलिस ने अपनी तरफ आईपीसी की धारा 147, 148, 149. 34, 323, 307, 332, 353, 395, 504, 506, 435, 427 के अलावा 7 सीएल एक्ट के तहत विभिन्न धारायें लगायी गयी हैं। सीओ शाहगंज अवधेश शुक्ल ने बताया कि अराजकता फैलाने में पूर्व सांसद धनंजय सिंह व विधायक ललई का प्रमुख रोल रहा है। पुलिस ने मामले को स्वत संज्ञान में लिया गया है। दूसरी तरफ सूत्रों की मानें तो तीन अलग अलग मुकदमे दर्ज किये गये हैं। एसओ के अलावा एक महिला ने मोबाइल छिनने तथा एक नागरिक ने पथराव को लेकर मुकदमा दर्ज कराया है। भगदड़ के बीच कुछ लोगों ने प्रतापगढ़ सांसद के खेमे की एक स्कापियो में आग लगा दी और कई गाड़ियों के शीशे तोड़ डाले। पथराव में छह लोग घायल हो गए। पुलिस ने 17 लोगों को हिरासत में लिया है।
पारित हो गया अविश्वास प्रस्ताव
कई दिनों से चल रही गहमा-गहमी के बीच कड़ी सुरक्षा में अविश्वास प्रस्ताव पर हुए मतदान में 67 सदस्यों ने भाग लिया जिसमें से 66 सदस्यों ने अविश्वास प्रस्ताव के पक्ष में और एक सदस्य ने विरोध में मतदान किया। खुटहन ब्लाक में 109 बीडीसी हैं जिसमें एक विदेश में हैं। ब्लाक प्रमुख सरयू देवी के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पर सोमवार को मतदान होना था। इसके लिए ब्लाक मुख्यालय के आसपास सुरक्षा का कड़ा बंदोबस्त किया गया था। प्रतापगढ़ के सांसद हरिवंश सिंह और उनके पुत्र पूर्व प्रमुख रमेश सिंह तकरीबन 70 से अधिक बीडीसी संग 16 गाड़ियों का काफिला ले कर आ रहे थे। सवा 11 बजे के करीब काफिला तिघरा चौराहे से आगे बढ़ा तो आरोप है कि सरयू देवी के समर्थकों ने मार्ग में ट्रैक्टर खड़ा कर रास्ता अवरुद्ध कर दिया। इसी बीच किसी ने फायरिंग कर दी, जिसके बाद सरयू देवी के समर्थकों ने पथराव शुरू कर दिया। पुलिस ने मोर्चा संभाला और हवाई फायरिंग की तो दूसरे पक्ष से भी फायरिंग की जाने लगी। तभी दोनों तरफ से पथराव शुरू हो गया।

admin

No Comments

Leave a Comment