चंदौली। लक्ष्मनपुर गांव (कंदवा) में रविवार को हुए दोहरे हत्याकांड में एक तरफ भजपा विधायक सुुशील सिंह की भूमिका पर सवाल उठ रहे हैं तो दूसरी तरफ पूर्व एमएलसी और सैयदराजा से बसपा प्रत्याशी रहे श्यामनारायण उर्फ विनीत सिंह खुल कर पीड़ित पक्ष के साथ आ गये हैं। दोपहर में पूर्व एमएलसी गांव पहुंचे और पीड़ित परिवार को ढांढ़स बंधाया। उन्होंने घटना की कड़े शब्दों में निंदा करते हुए दोषियों को सजा दिलवाने में सहयोग करने का भरोसा दिया। उनका मानना था कि हत्याकांड पुलिस की लापरवाही का नतीजा रहा है। हमलावरों को भाजपा विधायक का संंरक्षण है जिसका प्रमाण चौथे आरोपी की वारदात के छह दिन बाद भी गिरफ्तारी न होने से देखा जा रहा है। यह सरासर दोषियों को बढ़ावा देने का काम किया जा रहा है। बहरहाल आरोपितों को संरक्षण और पीड़ित पक्ष के साथ पूर्व एमएलसी के उतरने से इलाके में गोलबंदी तेज हो गयी है जिससे तनाव बढ़ता जा रहा है।
डैमेज कंट्रोल में जुटी भाजपा
घटनाक्रम के बाद विधायक पर पीड़ित पक्ष के आरोपों को लेकर भाजपा बैकफुट पर है और दूसरे लोगों के जरिये डैमेज कंट्रोल का प्रयास कर रही है। शुक्रवार को सैयदराजा विधानसभा के भाजपा कार्यकतार्ओं ने पीड़ित परिवार को ढांढ़स दिया। वहीं मौके पर एसडीएम से मोबाइल से वार्ताकर अगनू के परिवार को किसान बीमा व पारिवारिक लाभ योजना देने की मांग की। चंंदौली सांसद के सैयदराजा प्रतिनिधि रामजी तिवारी व पूर्व जिला उपाध्यक्ष राजेश सिंह के नेतृत्व में भाजपा कार्यकर्ता प्रधान संजय सिंह के घर पहुंचकर शोकाकुल परिवार से मिलने पहुंचे थे। उन्होंने परिवार को हर संभव मदद देने का आश्वासन दिया। सांत्वना देने वालों में श्रवण सिंह, आलोक राय, रमाशंकर सिंह, मोहन राय, सोनू राय आदि शामिल थे।
प्रधान संघ ने की एसओ के खिलाफ मुकदमे की मांग
उधर पंचायती राज ग्राम प्रधान संगठन के जिलाध्यक्ष अनुज सिंह ने शोकाकुल परिवार से मिलकर हर सम्भव मदद देने का भरोसा दिया है। इसके साथ ही घटना में लापरवाह एसओ अरुण दुबे पर मुकदमा दर्जकर दोषियों को सजा दिलवाने की मांग की। प्रधान संघ का कहना था कि मांगे पूरी न होने पर मुख्यमंत्री से गुहार लगायी जायेगी। इस मौके पर महेश्वर सिंह, रवींद्रनाथ त्रिपाठी, अनिल सिंह, संजय सिंह, बृजेश यादव, रणविजय यादव, त्रिवेणी प्रसाद आदि मौजूद रहे।

admin

No Comments

Leave a Comment