गाजीपुर। कैराना और नूरपुर उपचुनाव में मिली जीत के बाद समाजवादी पार्टी में जश्न का माहौल है। पिछले विधानसबा चुनाव के बाद से नेपथ्य में चल रहे फायर ब्रांड नेता फार्म में आ गये हैं। पूर्व मंत्री ओमप्रकाश सिंह ने एक बार फिर से मोर्चा संभालते हुए भाजपा पर तीके हमले किये हैं। बीजेपी विधायकों को मिल रही धमकी के बारे में पूछने पर उन्होंने स्पष्ट शब्दों में कहा कि धमकी भरा पत्र और कॉल का मामला है तो ऐसे मामले में ऐसे लोगों के खिलाफ चौराहे पर खड़ा करके सजा देने का प्राविधान होना चाहिये। रही बात गृहमंत्री के बेटे को भी धमकी मिलेने की तो गृहमंत्री को धमकी का पत्र मिल रहा था और सीटिंग एमएलए को ही धमकी मिल रही थी। यह धमकियां कैराना उपचुनाव में ही मिल रही थी। जिन्ना साहब जिंदा थे कर्नाटक के चुनाव तक। पद्मावती और खिलजी जिन्दा थे गुजरात चुनाव तक ।पता नहीं देश के चुनाव में किसको लाकर खड़ा कर देंगे? इन लोगों के पास धमकी भरा पत्र आ रहा है पर धमकी कौन दे रहा है ये नही बता रहे हैं। ये लोग सोशल मीडिया से आये हैं और सोशल मीडिया से ही चले जायेंगे। बीजेपी पैसे का खुल्लम खुल्ला लेनदेन कर रही है जो शर्मनाक है।

महागठबंंधन पर काटी कन्नी, ईवीएम पर उठाये सवाल

ओमप्रकाश ने उपचुनाव में जीत पर बधाई दिया पर महागठबंधन के सवाल पर कन्नी काटते हुए कहा कि ये राष्ट्रीय स्तर का सवाल है इसपर हम कुछ नही कह सकते। बावजूद इसके आने वाला 2019 अच्छा होगा। वहीं मीडिया में विपक्ष के द्वारा ईवीएम पर बार बार उठाये गये मामले पर सवाल किया तो उन्होंने कहा कि ये इलेक्ट्रॉनिक मशीन है, साहब कुछ भी हो सकता है। जैसे कि कोई बटन दबाने पर वोट कहीं और चला जाता है। चुनाव पाक साफ होने चाहिये। कहावत के रूप में कहा कि नुक्ते के हेर-फेर से खुदा जुदा हो जाता है, ये तो साहब इलेक्ट्रॉनिक चीज है ए से जेड तक कुछ भी हो सकता है। इसलिये सब लोग कह रहे हैं हमारा जो अब चुनाव हो वो बैलेट से हो। बैलेट से चुनाव अमेरिका जर्मनी में हो रहा है तो भारत मे क्यों नही हो सकता है। वहीं अमित शाह और मोदी पर कटाक्ष करते हुये कहा कि अमित शाह मोदी राजनीति के उच्च कोटि के खिलाड़ी हैं। यो तो ओपनर अच्छे हैं जो हर खेल के ओपनर तो बनना चाहते हैं लेकिन नाईट मैच में खेलने के योग्य नही हैं। अमित शाह कहते हैं कि हर चुनाव जीतने की हमारे पास कला है लेकिन वो कितना चुनाव जीते हैं?

admin

No Comments

Leave a Comment