वाराणसी। पीएम के संसदीय क्षेत्र में हुए फ्लाईओवर हादसे को सीएम योगी ने गंभीरता से लिया है। मंगलवार को हादसे के कुछ घंटे बाद उनका आगमन हुआ था और अभी अफसर राहत की सांस ले रहे थे कि शनिवार को दो दिवसीय दौरे का दोबारा एलान हो गया है। सूत्रों के मुताबिक सीएम रात्रि विश्राम के साथ रविवार की अल सुबह से शहर में चल रहे दूूसरे विकास कार्यो का निरीक्षण करने के साथ अफसरों के पेंच सकेंगे। योगी का आगमन फ्लाईओवर हादसे की जांच रिपोर्ट मिलने के बाद होगा जिससे यह माना जा रहा है कि दोोषी और लापरवाह अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की घोषणा भी यहीं पर कर दी जायेगी।

जांच टीम लौटी, कइयों की भूमिका पर उठाये सवाल

फ्लाईओवर हादसे के बाद सीएम ने जिस तीन सदस्यीय जांच टीम का गठन किया था वह गुरुवार को लौट गयी है। अपनी रिपोर्ट में जांच टीम ने सेतु निगम के साथ स्थानीय पुलिस-प्रशासन के कुछ अधिकारियों की भूमिका पर सवाल उठाए हैं। एपीसी राजप्रताप सिंह की अगुवाई में बनी कमेटी में सिंचाई विभागाध्यक्ष भूपेंद्र शर्मा व जल निगम के एमडी राजेश मित्तल की टीम ने अपनी जांच में बीम को रोकने के लिए कारगर उपाय नहीं किए जाने को ही घटना का सबब माना है। मौके पर यातायात डायवर्जन न होने की खातिर सेतु निगम के साथ प्रशासन व ट्रैफिक महकमे को जिम्मेदार माना है। इसके अलावा बीम तथा पिलर्स के बीच बेयरिंग की गुणवत्ता मानक के अनुरूप नहीं मिली है। निर्माण की गुणवत्ता की जांच को सैंपल आईआईटी कानपुर लैब में भेजा गया है।

admin

Comments are closed.