बनाने की खातिर ‘दबाव’ मजदूरं पर किये अंधाधुंध फायर, वारदात को अंजाम देने वाले फरार जबिक दो गंभीर

आजमगढ़। पिछले साल हुए हत्या के मामले में दबाब बनाने की खातिर जेल में निरुद्ध कुख्यात अपराधी ने दूसरे पक्ष पर फायरिंग की प्लानिंग तैयार की। सोमवार की सुुबह वारदात को अंजाम देने के लिए बाइक सवार बदमाश पहुंचे तो वहां ‘टारगेट’ नहीं था। इस पर मिठाई के दुकान में काम करने वाले दो लोगों पर अंधाधुंध फायरिंग शुरू कर दी गयी। गोलीबारी के बाद इलाके में हडकंंप मच गयी और वारदात को अंजाम देने वाले फिल्मी तरीके से धमकी देते हुए वहां से फरार हो गये। घायलों को नाजुक हालत में जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है जहां दशा चिन्ताजनक देख रेफर कर दिया गया।

सीसी फुटेज से सामने आयी चौंकाने वाली कहानी

आरम्भिक जांच के बाद एएसपी ने स्वीकार किया कि मामले के तार पुरानी वारदात से जुड़े हैं। दरअसल अहरौला के चांदनी चौक स्थित नगेंद्र मोदनवाल की मिठाई की दुकान के मालिक नगेंद्र मोदनवाल के भाई जितेंद्र मोदनवाल की 11 अगस्त 2018 को पास स्थित मतलूपुर स्थित दुकान पर गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। हत्या को इसी तरीके से इसी समय अंजाम दिया गया था। जितेंद्र हत्याकांड की साजिश जेल में रची गई थी। पुलिस ने कई लोगों को गिरफ्तार किया था। चर्चा है किए हत्याकांड में शामिल कुछ लोग जल्द ही छूटे हैं। बताया जा रहा है कि बदमाशों के निशाने पर नगेंद्र मोदनवाल थे, लेकिन मौके पर नहीं होने से वो बच गए। बदमाश गोली मारने के बाद अतरौलिया की ओर फरार हो गए। सीसी फुटेज में दो लोगों के चेहरे साफ दिखे हैं जिसके आधार पर नामजद मुकदमा कायम किया गया है।

Related posts