चोरी कबूल कराने की खातिर पुलिस ने की कुछ इस तरह पिटाई की जान पर बन आयी, तूल पकड़ने पर मामला जांच की कार्रवाई

वाराणसी। इस समय 21 सदी में इंटरनेट के जरिये कोई मामला मिनटों में वायरल हो जाता है लेकिन पुलिस अब भी अंग्रेजों के जमाने के हिसाब से काम कर रही है। मामूली चोरी के एक मामले में पुलिस ने वहां काम करने वालों की डंडों से इस कदर धुनाई की उनका पैरों पर खड़ा होना दूभर हो गया। दरअसल चोरी मेयर मृदुला जायसवाल के पति की दुकान में हुई थी और पुलिस को उन्हें संतुष्ट करने की खातिर कर्मचारियों की पीठ पर डंडे तोड़े। दशा बिगड़ते देख पुलिस ने आनन-फानन में मंडलीय अस्पताल में भर्ती करा कर रफा-दफा करन ेकी कोशिश शुरू कर दी। सोशल मीडिया पर घायलों की फोटो वायरल होने के बाद सभी बैकफुट पर आ चुके हैं। पुलिस की सफाई है कि इसी दशा में मेयर के पति ने सौंपा था तो आला अधिकारी सीओ चेतगंज को जांच सौंप कर निबटाने की कोशिश कर रहे हैं।

योगी के जाने के बाद किया हाथ साफ

मेयर के पति राधाकृष्ण जायसवाल की पिपलानी कटरा में आॅटोमोबाइल की दुकान है। सोमवार की रात दुकान के पीछे के दरवाजे का ताला तोड़ कर चोरी हुई थी। दूसरे दिन मेयरपति का कहना था कि 40 हजार रुपये चोरी हुए लेकिन यह रकम कैशबाक्स में क्यों छोड़ी इसका उत्तर नहीं था। पुलिस ने फौरन अज्ञात के खिलाफ मुकदमा कायम कर लिया। मंगलवार को सीएम योगी का भी अगमन था। उनकी रवानगी के बाद पुलिस ने दुकान में काम करने वाले तीन लोगों को उठाया और थाने लाने के बाद थर्ड ही नहीं बल्कि इसके आगे की डिग्री भी नहीं छोड़ी। बेहोशी का दशा में पुलिस ने उन्हें भर्ती कराया जिस पर डाक्टरों ने दशा गंभीर बतायी। मामला तूल पकड़ता देख मेयर खुद अस्पताल जा धमकी और डिस्चार्ज करा कर अपने साथ ले जान ेपर जोर दिया।

Related posts