कोर्ट के आदेश पर धोखाधड़ी के संग हत्या कर शव गायब करने में हुए पांच नामजद, कोर्ट के आदेश पर पुलिस ने की कार्रवाई

वाराणसी। लगभग 10 माह पहले चंद्रबली मिश्र के संदिग्ध हालात में लापता होने का मामला एक बार फिर से गरमा रहा है। जंसा पुलिस ने कोर्ट के आदेश पर गुरुवार को इस मामले में चार लोगों को नामजद करने के साथ एक को अज्ञात दर्शाते हुए मुकदमा कायम कर विवेचना शुरू कर दी है। आरोपितों के खिलाफ धोखाधडी के संग हत्या कर लाश छिपाने के आरोप रपट दर्ज की गयी है। एसओ जंसा संजय कुमार सिंह ने स्वीकार किया कि मुकदमा दर्ज कर लिया गया है और आरोपितों की तलाश की जा रही है।

क्या था पूरा मामला

गौर गांव (मिर्जामुराद) निवासी राजकुमार मिश्र ने एसीजेएम प्रथम के कोर्ट में सीआरपीसी की धारा 156 (3) के तहत प्रार्थनापत्र देकर आरोप लगाया था कि उसके सगे चाचा चंद्रबली मिश्र को झबरा गांव (जंसा) निवासी दिनेश दुबे,आशीष दुबे,श्रीश दुबे व गौर गांव निवासी राजेश कुमार सेठ ने कीमती जमीन हथियाने के चक्कर में गायब कर दिया है। आरोपित 16 जून 18 को उसे किसी काम के बहाने जंसा थाना क्षेत्र के सहितकापुर ले गए थे। आरोपियों ने सुनियोजित ढंग से 18 जून 18 को उनकी हत्या करके शव गायब कर दिए थे। इस मामले में जंसा थाने पर तहरीर दिया गया था। परंतु पुलिस ने कोई कार्यवाई नही किया।उसके बाद पीड़ित ने कोर्ट में प्रार्थना पत्र प्रस्तुत किया था। कोर्ट ने चार नामजद सहित एक अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने का आदेश जंसा पुलिस को दिया था।

Related posts