मीरजापुर। भोगांव गंगा घाट (चील्ह) में सोनवार को गंगा में स्नान करते समय पांच बच्चे डूब गए। इनमें तीन बच्चों को सकुशल बचा लिया गया जबकि दो अन्य बच्चों की गहरे पानी में डूबने से मौत हो गयी। पुलिस घाट पर पहुंच कर स्थानीय मल्लाहों की मदद से दोनों बच्चों के शव की तलाश में जुट गयी। मामले की जानकारी मिलने पर पूर्व मंत्री रंगनाथ मिश्र तथा कोन ब्लाक के प्रमुख के पति आनन्द त्रिपाठी भी घाट पर पहुंच कर बच्चों के शव तलाश कराने में जुट गए। मल्लाहों ने दोपहर बाद लगभग तीन बजे के करीब दोनों बच्चों का शव गहरे पानी से बरामद करने में सफल रहे।

सभी थे औराई के निवासी

सोमवार को सुबह नौ बजे औराई (संत रविदास नगर) के सहसेपुर के गोरीडीह गांव निवासी हिमांशु पाण्डेय (15) तथा शेरू उर्फ जीत लाल (12) अपने तीन अन्य दोस्त सौरभ उपाध्याय(15), नादे(14) व ईशू (14) साइकिल से भोगांव गंगा घाट पर स्नान करने आए थे। पांचों बच्चे एक साथ गंगा में स्नान कर रहे थे। इसी बीच गहरे पानी में चले जाने से सभी डूबने लगे। बच्चों को डूबते देख घाट पर स्नान कर रहे अन्य लोगों ने किसी तरह तीन बच्चों को बचा लिए। हिमांशु पाण्डेय और शेरू उर्फ जीत लाल की गंगा में डूबने से मौत हो गयी। गंगा से सकुशल बचाए गए सौरभ, नादे और अनुज उपाध्याय गांव पहुंच कर हिमांशु और शेरू के घर इसकी सूचना दे दी। बच्चों के गंगा में डूबने की खबर मिलते ही परिवार के सदस्य अन्य लोगों के साथ घाट पर पहुंच गए। परिजनों ने चील्ह थाने को भी इसकी सूचना दे दी।

admin

No Comments

Leave a Comment