भाजपा नेता के घरवालों की दबंगई: पहले की पिटाई फिर दर्ज करा दी एफआईआर, वीडियो वायरल होने पर क्रास मुकदमा

जौनपुर। सूबे की सत्ता पर काबिज होने से पहले सपा की दबंंगई का वास्ता देते हुए भाजपा इस पर लगाम कसने का दावा करती थी। सत्ता मिलने के बाद दशा उससे बदतर हो गयी। ताजा मामला कोतवाली थाना क्षेत्र का है जहां भाजपा नेता के घरवालों ने दलित महिला समेत परिवार को पीटा। शर्मनाक यह रहा कि मौके पर वर्दीधारी दरोगा मौजूद थे लेकिन तमाशबीन की भूमिका में। पुलिस के कारनामे यही खत्म नहीं होते बल्कि जिनकी पिटाई की गयी थी उनके खिलाफ रपट भी दर्ज कर ली। घटनाक्रम का वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस ने यू टर्न ले लिया। पीड़ित महिला की तहरीर पर मुकदमा कायम कर लिया है।

कप्तान से लगानी पड़ी गुहार

उमरपुर-हरिबंधनपुर निवासिनी निर्मला देवी ने एसपी के यहां प्रार्थनापत्र दिया जिसमें घटनाक्रम का ब्योरा था। निर्मला के मुताबिक गुरुवार की शाम वह पालिटेक्निक चौराहे के पास खड़ी थी तभी सुल्तानपुर रोड से आ रही तेज रफ्तार फाच्यूनर ने खड़े ई रिक्शा में टक्कर मार दी। जख्मी निर्मला ने वाहन सवार सनी सिंह को उलहना दिया। आरोप है कि सन्नी के संग उनके पिता आईबी सिंह उतर कर पीटने लगे। यह मंजर देख निर्मला के पति चंद्रमोहन सोनकर और पुत्र बचाने के लिए पहुंचे। इन दोनों की भी पिटाई के संग जातिसूचक गालियां दी गयी। दरोगा और अपने गनर के सामने मुंह में पिस्तौल डालते हुए धमकियां दी गयी। बताया जाता है कि वाहन सवार भाजपा नेता के परिवार से जुड़े हैं। उनकी पहुंच का अंदाजा इससे भी लगाया जा सकता है कि पुलिस ने पीड़त परिवार के बदले पीटने वालों की तरफ से रपट कायम की। वीडियो बायरल होने के बाद निर्मला की तहरीर पर शुक्रवार को मुकदमा कायम किया गया।

इंस्पेक्टर ने किया दबाव से इनकार

कोतवाली प्रभारी विनय प्रकाश का कहना है कि दोनों तरफ से मुकदमा कायम किया गया है। निर्मला की तरफ से शुक्रवार को तहरीर मिली जिस पर एससी-एसटी समेत आईपीसी की धाराओं के तहत मामला दर्ज हुआ है। दूसरे पक्ष ने गुरुवार को ही तहरीर दी थी जिस पर रपट दर्ज हो गयी थी। मामले की विवेचना की जा रही है और साक्ष्य के आधार पर विधिक कार्रवाई की जायेगी।

Related posts