वाराणसी। कपसेठी स्टेशन के पूर्वी रेलवे गेट आरओबी निर्माण के लिए गुरूवार को राज्य सेतु निगम के कर्मचारी जब नाप-जोख करना शुरू किये तभी वहां बड़ी संख्या में किसान जुट गये। किसानों मुआवजा नही तो निर्माण नहीं का नारा बुलंद करते हुए सभी कर्मचारियों को खदेड़ दिया। किसानों ने स्पष्ट शब्दों में कहा कि जब तक मुआवजा नही मिलेगा हम लोग काम नहीं करने देंगे। मौके पर पहुचे सहायक अभियंता आरएस विश्वकर्मा ने किसानों को समझाने का प्रयास किया किन्तु किसान उनकी बात अनसुनी कर दी। खोदाई के लिए मंगायी गयी जेसीबी को भी किसानों ने भगा दिया। किसानों का कहवा था कि फोर लेन का निर्माण हुए सालों बीत गया लेकिन मुआवजे से लिए अभी तक लिखा-पढ़ी ही चल रही है।

सर्विस रोड भी नहीं बनने दे रहे

आरओबी निर्माण के लिए सहायक अभियंता आरएस विश्वकर्मा ने अपने कर्मचारी खदेरू के साथ अन्य कर्मचारियों की टीम के साथ रेलवे गेट के पास पहुचे थे। सहायक अभियंता ने विरोध करने वाले किसानों को समझाने का प्रयास किये लेकिन वह नहीं माने। किसानों का कहना था कि मुआवजा नहीं तो आरओबी नहीं। सहायक अभियंता ने कहा कि हम सर्विस रोड नही बना रहे है और अपनी सडक पर खुदाई कर रहे हैं। इस पर किसान भडके किसानों ने कहा कि जब तक बावतपुर-कपसेठी मार्ग का मुआवजा नही मिलेगा तो तब तक हम किसी कीमत पर आरओबी का निर्माण नही होने देगे। किसानों की तरफ से संजय कुमार सिंह ने नेतृत्व किया। इस अवसर पर,मुनील प्रजापति, विनोद प्रजापति, अशोक दुबे, राकेश सिंह, हरिशंकर शर्मा, अमित त्रिपाठी, कन्हैया लाल, राजेन्द्र पांडेय, वकील,समेत दर्जनों किसान मौजूद थे।

admin

No Comments

Leave a Comment