काशी में परिवार पर टूटा आर्थिक तंगी का सितम, मासूम बच्चों के साथ खुदकुशी करने वाले दम्पति संग अजन्मे की भी जान गयी

वाराणसी। पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में हुकुलगंंज मुहल्ले (कैंट) से बुधवार को एक दर्दनाक घटना सामने आई। मोहल्ले में रहने वाले मोमोज विक्रेता किशन कुमार ने आर्थिक तंगी से क्षुब्ध होकर पत्नी और दो मासूम बच्चों के साथ मौत को गले लगा लिया। घटना के बाद परिवार में मातम छा गया है।

बहन की शादी के लिए लिया था कर्ज

हुकुलगंज के रहने वाले अमरनाथ के बड़े पुत्र किशन कुमार ने कुछ साल पहले अपनी बहन की शादी के लिए मार्केट से करीब 10 लाख रुपया उधार लिया था। कर्ज न चुका पाने के कारण पिछले कुछ दिनों से वह परेशान चल रहा था। बकायेदार उसे लगातार धमकी दे रहे थे। धीरे-धीरे उसकी मानसिक हालात बिगड़ने लगी थी। परिजनों के मुताबिक खुद के निजी मकान के अलावा दो और मकान से किराया मिलता था , लेकिन परिवार बड़ा होने के चले खर्च नहीं चल पाता था। तीन भाइयों में बड़ा होने के नाते किसन पर घर की सारी जिम्मेदारी थी। मां सावित्री देवी का भी रो रो कर बुरा हाल हो चुका है। यहां 8 कमरे के मकान में अमरनाथ अपनी पत्नी परिवार के अलावा उनके भाइयों का परिवार भी रहता था।

पत्नी के गर्भ में था 8 महीने का बच्चा

इस बीच बुधवार को किशन ने अपने दो बच्चों शिखा और उज्जवल और पत्नी नीलम को जहर दे दिया। इसके बाद खुद भी फांसी के फंदे पर झूल गया। घटना की खबर मिलते ही परिवार में कोहराम मच गया। परिवारवालों का रो रोकर बुरा हाल है। बताया जा रहा है कि किशन की पत्नी के गर्भ में 8 महीने का बच्चा पल रहा था। पुलिस ने सभी शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

Related posts