वाराणसी। नूरुद्दीन शहीद (मंडुआडीह) निवासी युवती ने महेशपुर में रहने वाली अपनी सहेली और उसके पिता पर लगाया नशीला पदार्थ खिलाकर कानपुर ले जाकर शादी कराने का आरोप लगाया। मंगलवार को युवती ने पुलिस की दी तहरीर। पीड़िता का आरोप है कि सहेली के पिता ने उसे 20 हजार रुपये में एक ट्रक ड्राइवर को बेच दिया। पांच दिनों के बाद ट्रक ड्राइवर ने घर पहुंचाने के लिए सहेली के पिता के संग भेजा। परिवार वालों की पीड़िता ने इसकी जानकारी दी तो बदनामी के डर से वह चुप रहे लेकिन बाद में धमकियां मिलने लगी तो थाने में गुहार लगायी। पुलिस आरोपित को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है।

सहेली ने घर बुला कर दिया धोखा

पीड़िता का आरोप है कि विगत 12 नवम्बर को महेशपुर निवासी सहेली ने सुबह फोन कर अपने घर बुलाया। घर पहुचने पर उसकी सहेली के पिता ने चाय में कोई नशीला पदार्थ मिलाकर पिला दिया जिससे वह बेहोश हो गयी। होश आने पर खुद को कानपुर में एक घर मे पाया। युवती ने बताया कि सहेली के पिता ने नकली बाप बनकर जबरन डरा धमका कर उसका नाम काजल बताकर उसकी शादी कानपुर निवासी ट्रक चालक अजय से करवा दी। जब उसने अजय से अपनी बात कही तो उसे बताया अजय ने कहा कि नकली पिता ने 20 हजार लेकर शादी कराई है। अजय ने 25 को पीड़िता और उसके नकली पिता के साथ बनारस भेज दिया। बनारस पहुचते ही नकली पिता ने पीड़िता को अजय से मिले कुछ सोने चांदी के जेवरात लेकर लहरतारा चौराहे पर छोड़ दिया। किसी तरह युवती घर पहुची।और सारी आपबीती अपने पिता पेशे से मजदूर लल्लन को बताई।

admin

No Comments

Leave a Comment