मऊ। इंटरनेट के जमाने में इन दिनों सोशल मीडिया पर लोग सक्रिय रहते हैं। कई बार अनजान से मेलजोल बढ़ना गले का जंजाल बन जाता है। ऐसी ही कुछ कहानी पिंकी (बदला नाम) की है। सोशल मीडिया फेसबुक के माध्यम से पिंकी की मित्रता किसी अनजान लड़के से हो गयी थी। कुछ दिनों तक तो आपस में संदेश एवं फोटोग्राफ का आदान प्रदान चलता रहा। बाद में उक्त व्यक्ति का व्यवहार बदल गया है तथा फेसबुक पर अश्लील संदेश भेजना शुरू कर दिया। उसने डिमांड रखी कि तुम किसी होटल में आकर मुझसे मिलो। यही नहीं अनजान युवक ने शारीरिक संपर्क बनाने के लिए दबाव डाला। पिंकी ने अप्रैल में इंस्पेक्टर कोतवाली मऊ शिशिर त्रिवेदी से संपर्क कर शिकायत।

पुलिस के दखल के बाद बनाये पोर्न फोटोग्राफ

इंस्पेक्टर ने पहले उक्त व्यक्ति का मोबाइल नंबर लेकर फोन कर समझाने का प्रयास किया गया, परंतु कोई सुधार नहीं हुआ। अलबत्ता वह व्यक्ति पीड़ित लड़की से रुपयों की मांग करने लगा तथा किसी ओर के फोटोग्राफ पर पिंकी का चेहरा लगाकर नंगी तस्वीरें फेसबुक पर पोस्ट कर के पिंकी विश्वकर्मा को बदनाम करने लगा। पानी सिर से गुजरता देख पुलिस ने अजय सिंह पता अज्ञात के विरूद्ध कोतवाली में आईटी एक्ट की धाराओं के तहत मुकदमा का.म कर लिया। सर्विलांस टीम की मदद से उपरोक्त अभियुक्त अजय सिंह का पूरा नाम पता एवं लोकेशन पता कर ली गयी। कोतवाली पर नियुक्त इंस्पेक्टर राजनाथ यादव के नेतृत्व में एक टीम का गठन कर दिया गया। टीम ने शुक्रवार को अजय कुमार पटेल पुत्र वीरेंद्र सिंह निवासी नेवादा-सुंदरपुर जनपद-वाराणसी को फर्जी फेसबुक एकांउट बनाकर ब्लैकमेल करने तथा धमकी देने के आरोप में गिरफ़्तार कर लिया। उसके कब्जे से घटना में प्रयुक्त जियोनी मोबाइल बरामद किया गया। संबंधित कोर्ट में पेशी के बाद अजय को जेल भेज दिया गया।

admin

No Comments

Leave a Comment