वाराणसी। अपर मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट सप्तम की अदालत में आदमपुर थाने के दो दरोगाओं प्रेम नारायण सिंह और राहुल रंजन सिंह के खिलाफ परिवाद दर्ज किया गया है। अदालत ने मामले की अगली सुनवाई के लिए 24 जून की तिथि नियत की है। कोर्ट में मीरापुर बसही निवासी अधिवक्ता विजय सिंह ने परिवाद में आरोप लगाया कि 10 मई को वह गोलगड्डा गया था,वही चौराहे नशे में धुत हनुमान फाटक चौकी इंचार्ज प्रेमनरायन सिंह और उपनिरीक्षक राहुल रंजन सिंह की बाइक से परिवादी को बाइक की टक्कर हो गई,इस दौरान परिवादी के साथ गाली गलौज की गई और थाने पर ले जाकर उसे मारा पीटा गया और 23 सौ रुपया नगद छिन लिया गया। अनुनय विनय करने पर थाने से छोड़ दिया गया। अदालत ने इस मामले में परिवाद दर्ज कर कर। परिवादी के बयान के लिये 24 जून की तारीख नियत की गई है।

उपहास करने के संग दी थी धमकियां

आरोप है कि थाने ले जाने के बाद जब परिवादी ने खुद को अधिवक्ता बताया था तो दोनों दरोगाओं ने उपहास उड़ाने के संग कहा था कि वह खुद कानून और जज हैं। यहां पर वहीं होगा जो वह चाहेंगे। शराब पीकर वाहन चलाने का आरोप मढ़ने की कोशिश की गयी लेकिन मेडिकल में पोल खुलने की संभावना देख पीछे हट गये। दोनों को छोड़ते समय तमाम धमकियां दी गयी थी।

admin

No Comments

Leave a Comment