वाराणसी। कलेक्टर-कप्तान के आने की भनक मिलने के बाद से थाना चमकने लगता है। गंदगी दिखती नहीं और वर्दी भी लकदक पहनी जाती है। बावजूद इसके डीएम योगेश्वर राम मिश्र गुरूवार को थाना मण्डुवाडीह के निरीक्षण के पहुंचे तो हाल-बेहाल दिखा। थाना परिसर में गंदगी एवं अस्त-व्यस्त अभिलेखों पर भी डीएम ने खासी नाराजगी जतायी। पूर्व सूचना के बावजूद कोई अभिलेख एवं सूचना तैयार न रखने पर थाना प्रभारी को जमकर फटकार लगाते हुए उनकी इस लापवाही के लिये कड़ी कार्यवाही किये जाने की संस्तुति एसएसपी आरके भारद्वाज से की है।

काशी विद्यापीठ ब्लाक का भी था यही हाल

इससे पूर्व काशी विद्यापीठ विकास खण्ड कार्यालय के निरीक्षण के दौरान भी डीएम ने परिसर में गंदगी देख नाराजगी जतायी तथा बीडीओ को स्वच्छता के प्रति सचेत किया। विभागीय विभिन्न अभिलेखों में कमियों पर उसे तुरन्त दुरूस्त कराये जाने का निर्देश दिया। छितौनी कोट ग्राम सभा के निरीक्षण के दौरान महिलाओं के स्वयं सहायता समूह द्वारा उत्पादित कम्पोस्ट खाद, थैली आदि अन्य उत्पाद की बिक्री बाजार में न हो पाने के कारण समूह कर्मियों को पारिश्रमिक भुगतान में आ रहे परेशानी पर राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन योजनान्तर्गत आय के स्रोत बढ़ाये जाने का निर्देश दिया। उन्होने समूह की शिक्षित महिलाओं से अशिक्षित महिलाओं को पढ़ाये जाने का भी निर्देश दिया। कहा इसके लिये जो भी संसाधन की जरूरत होगी, उसे मुहैया कराया जायेगा। निरीक्षण के दौरान जिला पंचायत राज अधिकारी, डीसी मनरेगा, वीडीओ सहित अन्य लोग प्रमुख रूप से उपस्थित रहे।

admin

No Comments

Leave a Comment