मीरजापुर। असरफावाद गांव (अदलहाट) निवासी ड्राइवर धमेंद्र की हरकतों से पत्नी संगीता आजिज आ गयी थ। आए दिन शराब पीकर मारपीट करना और घर की जिम्मेदारियों से मुंह मोड़ना स्वभाव में शामिल हो गया था। इसके अलावा चरित्र को लेकर भी काफी कुछ सुनने को मिलता था। संगीता के काफी कोशिश की पति सुधर जाये लेकिन ऐसा न होते देख उसने खुद ही जान देने की ठान ली। शनिवार की रात अपनी नौ वर्ष की बेटी कोमल के संग विषाक्त पदार्थ खाकर संगीत ऐसा सोई कि फिर आंख नहीं खोली। शनिवार की रात इहलीला समाप्त कर ली। इसका पता चलने के बाद परिवार में कोहराम मच गया। मायकेवाले सूचना मिलने पर आये लेकिन किसी तरह की तहरीर नहीं दी। पुलिस ने मां-बेटी के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

काफी दिनों से चल रही थी तकरार

परिवारवालों की सूचना पर पहुंचे थानाध्यक्ष विजय प्रताप सिंह ने आरम्भिक जांच के बाद बताया जमालपुर थाना क्षेत्र के मठना गांव निवासी राम दुलार सिंह ने अपनी पुत्री संगीता देवी की शादी कुछ वर्ष पूर्व असरफाबाद गांव निवासी धमेंद्र सिंह के साथ की थी। संगीता तीन बच्चों की मां बन गयी लेकिन पति की हरकतों में सुधार नहीं हुआ। पति की बुरी आदतों से वह काफी परेशान रहती थी जिससे आये दिन तकरार होती थी।

admin

No Comments

Leave a Comment