मऊ। नगपुर गांव (रानीपुर) में घर से दूर बनायी पाही पर मंड़ई में सो रहे वृद्ध उमाशंकर विश्वकर्मा (58) की बदमाशों ने शुक्रवार की रात गोली मार कर हत्या दी। उमाशंकर के साथ रोजाना उसका साथी सासाराम (बिहार) निवासी रामचेला भी रहता था लेकिन शुक्रवार की रात रामचेला गांव में हो रहे एक धार्मिक समारोह में चला गया। इधर परिवार वाले उमा शंकर को भोजन मड़ई में पहुंचा कर निश्चिंत थे। भोजन करके उमाशंकर सो गया था। शनिवार की भोर में लगभग तीन बजे रामचेला मड़ई पर गया तो उमाशंकर को चौकी से नीचे पड़ा देख चौंका। नजदीक से देखने पर पता चला कि खून से लथपथ उमा शंकर की मौत हो चुकी है। वहाँ से भागकर रामचेला घर पहुँचा।उनसे परिवार वालों को घटना की सूचना दी।

25
परिवार ने किसी रंजिश से इनकार
घटना का कारण नहीं पता चल सका है और परिवार ने भी किसी तरह की रंजिश से इनकार किया है। पुलिस ने शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम कराया। नगपुर गांव स्थित इपने मकान से दौ सौ मीटर दूर उमाशंकर पोखरे के भीटे पर बनी मड़ई में रहकर खेतों की रखवाली करता था। रामचेला से वारदात की जानकारी मिलने पर रोते बिलखते परिवार के लोग मौके पर पहुंचे। परिजनों ने घटना की सूचना पुलिस को दी। बदमाशों ने उमाशंकर को सीने और पेट में सटा कर दो गोलियां मारी थी। पुलिस अधीक्षक ललित कुमार सिंह और अपर पुलिस अधीक्षक शिवाजी शुक्ल ने घटना स्थल पर पहुंच कर स्थिति का जायजा लिया। पुलिस ने शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम कराया। एस पी का कहना है कि जल्दी ही हत्या का खुलासा करके हत्यारे को गिरफ्तार कर लिया जाएगा ।घटना स्थल पर नाइन एमएम के दो-दो खोखे पुलिस ने बरामद किये हैं।

admin

No Comments

Leave a Comment