भदोही। लोकसभा उपचुनाव में सपा और बसपा को लेकर सीएम योगी ने सांप-छछूंदर और केर-बेर सरीखा जो तंज कसा था उसके उदाहरण सामने आने लगे है। निषाद पार्टी के सपा ,े हुए गठबंधन के बाद पैदा हुई अंदरुनी कलह रविवार को उजागर हो गयी। निषाद पार्टी के महासचिव व ज्ञानपुर से जीते इकलौते विधायक विजय मिश्र ने पार्टी लाइन से हट कर अपनी राय जाहिर कर दी। खास यह कि एक कार्यक्रम के दौरान पंडाल में बैठी जनता से पीएम मोदी के अंदाज में हाथ उठवाते हुए ऐसा ऐलान किया। बाहुबली विजय मिश्र का मायवती से 36 का आंकड़ा रहा है और पिछले विधानसभा चुनाव के दौरान अखिलेश से भी ठन गयी थी। ऐसे में बसपा प्रत्याशी को वोट देने को लेकर उनके सामने भी असहज स्थिति हो गयी थी।

कुछ मुद्दों लेकर रही नाराजगी दूर हो गयी

तीन बार सपा के टिकट पर जीते चुके विजय मिश्र इस बार बदले अंदाज में हैं। सदन में कई बार खरी-खरी सुनाने के साथ राष्ट्रपति चुनाव में उन्होंने वोट भाजपा को दिया था। कुछ मुद्दों को लेकर नराजगी थी जो दूर हो चुकी है। अपने विधान सभा क्षेत्र ज्ञानपुर में कई परियोजनाओं के लोकार्पण और शिलान्यास के बाद उन्होंने मंच से ही राज्यसभा चुनाव में सपा और बसपा को वोट करने से सीधे इनकार कर दिया। निषाद पार्टी के महासचिव रहते हुए उनके बयान से पार्टी में खलबली है। विधायक ने स्वीकार किया कि निषाद पार्टी ने राज्यसभा चुनाव में बसपा प्रत्याशी को वोट करने को कहा था लेकिन उन्होंने इनकार कर दिया। उनका कहना था कि जनता ने चुना है और वह जिसे चाहेगी उस पार्टी को वोट करूंगा। पंडाल में मौजूद जनता ने भी उन्हें भाजपा को वोट करने के समर्थन में हाथ उठाया।

सपा को लेकर लगाये आरोप

विधायक ने अपनी पीड़ा व्यक्त करते हुए कहा कि निषाद पार्टी ने सपा के साथ विलय कर लिया और इस मसले पर मुझसे कोई राय नहीं ली गई जबकि मैं राष्ट्रीय महासचिव था। विलय के बाद अब पार्टी बची ही नहीं। जिनकी गलत नीतियों के चलते ज्ञानपुर की जनता ने उन्हें नकारकर हमें सेवा का मौका दिया, उन्हीं के साथ फिर जुड़ कर जनता के साथ धोखा नहीं कर सकता। उधर, निषाद पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ. संजय निषाद ने पार्टी के सपा में विलय की बात से इनकार किया है। उन्होंने कहा कि हमारा सपा के साथ गठबंधन है, विलय नहीं। अनका दावा था कि हमारी पार्टी का विधायक वहीं वोट करेगा, जहां पार्टी चाहेगी। इस मसले को हम आपस में सुलझा लेंगे।

admin

No Comments

Leave a Comment