मऊ। सहरोज गांव (कोपागंज) के प्राइमरी स्कूल का लोहे का गेट शुक्रवार को दोपहर में अचानक गिर पड़ा। गेट की चपेट में आने से पहली कक्षा में पढ़ने वाले छात्र सुमित (8) की मौके पर ही मौत हो गयी। हादसे के बाद वहां कोहराम मच गया और सुमित को लेकर अध्यापक अस्पताल गये जहां डाक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। मामला सरकारी विद्यालय का होने के नाते पुलिस-प्रशासन सक्रिय हो गया। पुलिस ने मृत छात्र का शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम की खातिर भेजने के साथ मृतक के अभिभावकों की तहरीर पर दो के खिलाफ मुकदमा कायम किया है। परिजनों को आर्थिक मदद देने के साथ घटना की जांच के आदेश दिये गये हैं।

भोजनावकाश के समय हुआ हादसा

दोपहर सवा 12 बजे भोजनावकाश के समय स्कूल के बच्चे भोजन करने के बाद हैंडपंप पर हाथ-मुंह धो रहे थे। इसी बीच हैंड पंप से लौटते हुए दो बच्चे लोहे का गेट पकड़कर झूल गए। इसी दौरान लोहे के भारी भरकम गेट का ऊपरी गुल्ला दीवार से अलग होकर बाहर निकल गया और गेट जमीन पर आ गिरा। गेट की चपेट में सुमित के आने के बाद अफरा तफरी मच गई। शिक्षामित्र हरिश्चंद अन्य अध्यापकों के सहयोग से घायल छात्र को आनन फानन सीएचसी ले गया लेकिन डाक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। दुर्घटना के समय प्रधानाध्यापिका स्कूल पर नहीं थीं। वह विद्यालय के उपभोग प्रमाण पत्र जमा करने बीआसी गई थीं। मौके पर नायब तहसीलदार शशिभूषण पाठक,सीओ मधुबन श्वेता आशुतोष ओझा, कोतवाल घोसी डीपी श्रीवास्तव, प्रभारी निरीक्षक राम कृष्ण द्विवेदी पहुंच गए। घटना को लेकर अभिभावक सहित गांव वालों में आक्रोश छा गया।

प्रधानाध्यापिका तथा सहायक अध्यापिका निलंबित

प्राथमिक विद्यालय सहरोज में गेट से दबकर छात्र की मौत के मामले में प्रभारी बीएसए ने प्रधानाध्यापिका शालिनी और प्रियंका कुशवाहा को निलंबित करने के साथ विभागीय जांच के आदेश दिये हैं। इसके अलावा अभिभावक की शिकायत पर प्रथम दृष्टया दो अध्यापिकाओं को निलंबित किया गया है। हादसे का एक पहलू यह भी रहा कि अध्यापिकाएं एबीएसए कोपागंज को फोन करने लगीं लेकिन उन्होंने काल रिसीव ही नहीं किया। अध्यापिकाओं ने एबीएसए के मोबाइल काल न रिसीव करने पर प्रभारी बीएसए को फोनकर घटना की जानकारी दीं।

admin

No Comments

Leave a Comment