सरकारी दुकानों से बेचते थे नकली शराब! चढ़े पुलिस के हाथ तो खुला यह राज

भदोही। होली पर शराब की खपत कई गुना बढ़ जाती है। नकली शराब बनाने वाले इन दिनों खासे सक्रिय हो जाते हैं। क्राइम ब्रांच प्रभारी अजय सिंह के नेतृत्व में स्वाट टीम ने मुखबिर की सूचना पर सोमवार को सुरियावां पुलिस के संग छापेमारी की तो नकली शराब का कारोबार करने वाले गिरोह के चार सदस्य गिरफ्तार हुए। मौके से भारी मात्रा में अवैध शराब बनाने के लिए इस्तेमाल होने वाला केमिकल ओपी के अलावा हजारों होलोग्राम,शीशियां और ढक्कन-रैपर बरामद हुए। खास यह कि गिरोह नकली शराब को लाइसेंसी दुकानों पर खपाता था जहां से बेची जाती थी। एसपी सचिन्द्र पटेल ने मंगलवार को गिरफ्तार आरोपितों को मीडिया के सामने पेश करते हुए बताया कि गिरफ्तारी और बरामदगी में शामिल पुलिस टीम को आईजी रेंज की तरफ से 10 हजार का पुरस्कार दिया गया है।

लंबे समय से चल रहा था गोरखधंधा

क्राइम ब्रांच को सूचना मिली थी कि सुरियावां में होली पर सप्लाई करने के लिए भारी मात्रा में नकली शराब तैयार हो रही है। इस पर छापेमारी कर वहां से शिवचरण सरोज, गुलाब हरिजन, रामशिरोमणि बिंद व नंदलाल को गिरफ्तार किया गया जबकि अनिल जायसवाल, व रंजीत जायसवाल उर्फ चुल्लू मौके से फरार होने में सफल रहे। पकड़े गये आरोपितों ने कबूल किया कि काफी समय से नकली शराब का कारोबार यहां से होता रहा है। गिरफ्तारी और बरामदगी में सचिन झा, अनिरुद्ध, इंदुप्रकाश, मेराज अली के अलावा एसओ सुरियावां सत्येन्द्र कुमार यादव शामिल रहे।

Related posts