वाराणसी। दीपावली के अगले दिन ही पुलिस-प्रशासन को वीवीआईपी कार्यक्रम में व्यस्त हो जाना है। दरअसल छठ पूजा से पहले पीएम मोदी अपने संसदीय क्षेत्र काशी में कई विकास योजनाओं के लोकार्पण और शिलान्यास की खातिर आ रहे हैं। उनके आने से पहले तैयारियों का जायजा लेने की खातिर सीएम योगी गुरुवार को देर शाम काशी आयेंगे। खास यह कि उनसे पहले दोपहर में ही पूर्व सीएम अखिलेश यादव भी पहुचेंगे। अखिलेश यादव विधानसभा चुनावों के बाद करीब डेढ़ साल बाद काशी आ रहे हैं। दोनों के कार्यक्रम गंगा किनारे ही है। योगी जहां मल्टी मॉडल टर्मिनल पर बनी जेटी पर हेलीकाप्टर उतरवा कर पीएम के आने से पहले ट्रायल करेंगे तो दूसरी तरफ अखिलेश खिड़किया घाट पर गोवर्धन पूजा में हिस्सा लेंगे।

कामों को दिया जा रहा अंतिम रूप

प्रोटोकाल के मुताबिक सीएम योगी गुरुवार देर शाम सर्किट हाउस पहुंचेंगे। यहां पीएम कार्यक्रम तैयारियों की समीक्षा बैठक के बाद शहर भ्रमण करेंगे। सीएम के आने की भनक मिलने के साथ सरकारी महकमे फास्ट हो गये हैं। दीपावली की छुटटी में भी विकास परियोजनाओं को अंतिम रूप दिया जा रहा है। रामनगर जाने से पहले सीएम रिंग रोड फेज वन और बाबतपुर फोरलेन का निरीक्षण करेंगे। माना जा रहा है कि सीएम हेलीकाप्टर रिंग रोड पर भी उतारा जा सकता है।

अखिलेश की नजर डैमेज कंट्रोल पर

पूर्व सीएम और सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव का गोवर्धन पूजा समिति की ओर से खिड़किया घाट पर आयोजित कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में शामिल होना डैमेज कंंट्रोल का हिस्सा माना जा रहा है। दरअसल चाचा शिवपाल के सेक्युलर मोर्चा में पूर्वांचल के प्रभावशाली नेताओं के शामिल होने से सपा को झटका लगा है। पिछले विधानसभा चुनाव से पहले रोड शो करने वाले अखिलेश ने काशी का रुख नहीं किया था लेकिन गुरुवार को वह तेरहवी में भी शामिल होते दिखेंगे। अखिलेश के कार्यक्रम को भव्य बनाने के लिए सपाइयों ने पूरे शहर को बैनर-होर्डिंग से पाट रखा है जिससे उसके उत्साह का अंदाजा लग सकता है।

admin

No Comments

Leave a Comment