वाराणसी। कप्तान के सामने पेश होकर शंभूपुर गांव (जंसा) निवासी महेंद्र मिश्रा के संग बड़ी संख्या में लोगों ने थाने के एक दरोगा की करतूतें गिनायी थी। सीधा आरोप था एक महिला जन्सा थाने के एक दरोगा को प्रभाव में लेकर महेंद्र मिश्रा को काफी दिनों से फर्जी मुकदमा में फंसा कर प्रताड़ित करवा रही है। साल भर की अवधि में तीन बार छेड़खानी और दुष्कर्म प्रयास सरीखी संगीन धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज हो चुका है। एसएसपी से मिलकर पीड़ित ने कहा था कि फर्जी रूप से फंसाया गया तो वह परिवार समेत आत्मदाह कर जीवन समाप्त कर लेगा।

दरोगा ने घर पर चढ़कर परिजनों के साथ किया दुर्व्यवहार

पीड़ित द्वारा पुलिस की शिकायत किए जाने से थाने की दरोगा आग बबूला हो गए। शिकायती पत्र पड़ने से गुस्साए दरोगा ने बुधवार की दोपहर पीड़ित के घर जाकर महिलाओं के साथ अभद्रता करते हुए प्रार्थना पत्र वापस लेने की धमकी दी। धमकाया कि जाने से पहले सभी मामलों में आरोप पत्र दायर कर गुंडा एक्ट में चालान कर दूंगा। जंसा पुलिस के इस कृत्य से पूरे गांव में काफी आक्रोश है। परिजनों ने तत्काल दरोगा के खिलाफ एसएसपी से कार्यवाही की मांग की है।

admin

No Comments

Leave a Comment