चंदौली। अपने संसदीय क्षेत्र में में होनी वाली हर छोटी-बड़ी गतिविधि पर भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष डा. महेन्द्रनाथ पाण्डेय की नजर ही नहीं रहती बल्कि ऐन वक्त पर किया हस्तक्षेप पार्टी के के लिए मुपीद साबित होता है। ऐसा ही कुछ ब्लाक प्रमुख के लिए हुए उपचुनाव में नजर आया। एक तरफ जहां सदर ब्लाक प्रमुख का निर्विरोध निर्वाचित होना तथा नौगढ़ ब्लाक प्रमुख के लिए आज भारी सुरक्षा व्यवस्था के बीच मतदान में पूर्व ब्लाक प्रमुख नीतू सिंह की एक बार फिर से जीत के पीछे ‘अध्यक्षजी’ का आशीर्वाद था। यह बात दीगर है कि समूचे घटनाक्रम को लेकर रावर्ट्सगंज के सांसद कोपभवन में चले गये हैं।

431

नीतू के सामने टिके नहीं विरोधी

नक्सल प्रभावित क्षेत्र नौगढ़ ब्लाक में चुनाव होने के कारण पुलिस-प्रशासन की मुश्किल बढ़ी हुई थी। सांसद ने अविश्वास प्रस्ताव को लेकर ही सवाल उठा दिया था। बावजूद इसके सकुशल चुनाव होने के कारण प्रशासन ने राहत की सांस ली। इसमें विजय पूर्व ब्लाक प्रमुख नीतू सिंह ने 40 में से 26 बीडीसी का मत पाकर विजयी घोषित हुई। दूसरी तरफ उनके प्रतिद्वंदी संजय यादव ने मात्र 14 वोट प्राप्त किए। इस संबंध में जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि सदर ब्लाक निर्विरोध घोषित हुआ और नौगढ़ ब्लाक में चुनाव होने के बाद नीतू सिंह को ब्लॉक प्रमुख घोषित किया गया।

कालंदी पहले ही जीत चुकी हैं

गौरतलब है कि चंदौली सदर ब्लाक में ब्लाक प्रमुख के उपचुनाव के लिए दो प्रत्याशियों ने अपना नाम अपना पर्चा दाखिल किया था जिसमें से हरिचरण सिंह ने नाम वापस लेकर कालिंदी सिंह को निर्विरोध करा दिया। कालिंदी प्रमुख पद के पर्याय विरेन्द्र सिंह के परिवार से हैं।

admin

No Comments

Leave a Comment