वाराणसी। एक तरफ केन्द्र सरकार ने वीआईपी कल्चर को समाप्त करने के क्रम में लाल और नीली बत्ती की दशकों पुरानी व्यवस्था समाप्त कर संदेश देने की कोशिश की तो इसकी काट खोज ली गयी। सरकारी नहीं बल्कि निजी वाहनों पर भारत सरकार और उत्तर प्रदेश शासन लिख कर चलने वाले वाहनों की संख्या में अप्रत्याशित वृद्धि हुई है। डीएम योगेश्वर राम मिश्र ने इसे लेकर सख्त रूख अख्तियार किया है। अपने निजी वाहनों पर उत्तर प्रदेश सरकार व भारत सरकार लिखवा कर अथवा स्टीकर लगाकर चलने वालो के विरूद्व धरपकड़ की कार्यवाही करते हुए चालान किये जाने हेतु आरटीओ को निर्देशित किया। उन्होंने ऐसे वाहनो के चालक एवं मालिकों के विरूद्व भी कड़ी कार्यवाही किये जाने का निर्देश दिया। उन्होने गाड़ियों के प्रदूषण जांच अभियान चलाकर कराये जाने का भी निर्देश दिया। डीएम ने बिना सूचना बैठक से गायब रहने पर सहायक निबन्धक स्टाम्प का वेतन रोकने का निर्देश दिया।

अभियान चला कर निस्तारित करे वाद

डीएम बुधवार को रायफल क्लब सभागार में राजस्व कार्यो के प्रगति की समीक्षा कर रहे थे। उन्होने राजस्व वादों का निस्तारण प्राथमिकता पर किये जाने पर जोर देते हुए राजस्व मजिस्ट्रेटो को अपने-अपने न्यायालयों में नियमित रूप से उपस्थित होकर लम्बित वादों की सुनवाई करने के साथ ही गुणवत्ता के साथ समय से निस्तारण किये जाने का निर्देश दिया। साथ ही 5 वर्ष से अधिक अवधि के लम्बित वादों को अभियान चलाकर निस्तारित किये जाने पर विशेष जोर दिया। तहसीलदार एवं नायब तहसीलदारों द्वारा वादों के निस्तारण में हिलाहवाली एवं बिनावजह वादों को लम्बित रखे जाने की जानकारी पर बिफरते हुए प्राथमिकता के आधार पर वादों का निस्तारण किये जाने की चेतावनी देते हुए कहा कि अन्यथा ऐसे मामलों में जिम्मेदारी निर्धारित तय कर कड़ी कार्यवाही अवश्य किया जायेगा। उन्होने जनपद के सभी अधिकारी व कर्मचारियों को अपने-अपने कार्यालयों में समय से उपस्थित होने के साथ-साथ कार्य एवं आचरण अच्छा रखे जाने का निर्देश दिया। उन्होने विभिन्न आयोगो एवं अन्य से प्राप्त लम्बित सन्दर्भो का निस्तारण शीघ्र किये जाने का निर्देश दिया। जिलाधिकारी ने राजस्व बकाये की समीक्षा के दौरान वाणिज्य कर, परिवहन, विद्युत, नगर निगम आदि विभागों को लक्ष्य के सापेंक्ष शत-प्रतिशत वसूली सुनिश्चित किये जाने पर जोर दिया। उन्होने चिन्हिंत बड़े बकायेदारो से अभियान चलाकर वसूली किये जाने का भी अधिकारियों को निर्देशित किया। बैठक में एडीएम प्रशासन, एडीएम आपूर्ति, सीआरओ, सिटी मजिस्ट्रेट, एसडीएम, तहसीलदार सहित अन्य लोग उपस्थित रहे।

admin

No Comments

Leave a Comment