जमाखोरी के संंग मुनाफाखोरी की शिकायतों पर चढ़ी डीएम की भिग्रुटि, दी चेतावनी और पुलिस को दिये निगरानी के निर्देश

वाराणसी। पीएम मोदी के आह्नवान पर रविवार को ‘जनता कर्फ्यू’ था और इसके खत्म होने से पहले ही सीएम योगी ने लॉकडाउन के आदेश दे दिये। पुलिस सख्ती से इसका अनुपालन कराने लगी तो आवश्यक वस्तुओं की कीमतें बढ़ने लगी। इसकी शिकायत डीएम कौशल राज शर्मा तक पहुंची। उन्होंने स्पष्ट कर दिया कि आवश्यक वस्तुओं विशेषकर आटा,चावल, दालें, खाद्य तेल, आलू प्याज व अन्य सब्जियां, नमक, दूध, चाय, माचिस, रसोई गैस, मिट्टी तेल, पेट्रोल, डीजल इत्यादि की जमाखोरी अथवा मुनाफाखोरी की स्थिति पायी जाती है तो दोषियों के विरूद्ध कड़ी कार्यवाही होगी।

इनको परेशान न करें पुलिस

इसके साथ ही शिकायत यह भी थी कि पुलिस आवश्यक वस्तुओं की दुकानवालों को नहीं जाने दे रही है। इस पर डीएम ने पुलिस अधिकारियों को निर्देशित किया है कि नागरिकों को आवश्यक वस्तुओं यथा-मिट्टी तेल, पेट्रोल, डीजल व रसोई गैस, खाद्यान्न की वाराणसी में निर्बाध आपूर्ति बनाये रखने हेतु उचित दर दुकानदारों को वितरण हेतु दुकाने खोलने और इन दुकानों से गल्ला लेने जा रहें कार्डधारकों/उनके परिवार के सदस्यों को न रोका जाए। इसके साथ ही मिट्टी तेल एजेंसियो के कर्मचारीगण, पेट्रोल/डीजल रिटेल आऊटलेट पर कार्यरत कर्मचारियों, गैस एजेंसीयों पर कार्यरत समस्त कर्मचारीगण/वाहन चालक/ हाकरों/ डिलीवरीमैनों, खाद्यान्न गोदामो पर भण्डारण में प्रयुक्त होने वाली ट्रकों, गोदाम से उचित दर दुकानों पर डोर स्टेप डिलीवरी में लगे वाहनों आदि जिनके पास एजेसियो/कम्पनीयों द्वारा निर्गत परिचय/ पहचान पत्र है, उनको आने-जाने दिया जाये। इससे जिले में खाद्यान्न, मिट्टी तेल, पेट्रोल/डीजल एवं रसोई गैस की निर्बाध आपूर्ति में कोई व्यवधान उत्पन्न न होगा।

Related posts