वाराणसी। जिलाधिकारी योगेश्वर राम मिश्रा की गिनती मोदी और योगी के विश्वासपात्र अफसरों में होती है। वाराणसी में मोदी के सपनों को पूरा करने की जिम्मेदारी भी उन्हीं के कंधों पर है। इस बीच गुरुवार को हुए एक वाक्ये से ऐसा लगता है कि जिलाधिकारी अब पुलिस महकमे को दुरूस्त करने में जुट गए हैं। डीएम ने मंडुवाडीह पुलिस थाने पर धावा बोला तो चौबीस घंटे के अंदर ही यहां ‘मलाई काट’ रहे एसओ आशुतोष तिवारी चलते बने।

डीएम ने किया था थाने का निरीक्षण

बताया जा रहा है कि गुरूवार को जिलाधिकारी योगेश्वर राम ने मंडुवाडीह पुलिस थाने का निरीक्षण किया था। पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के बावजूद थाने में गंदगी का अंबार लगा था। ना तो फाइलें दुरुस्त थीं और ना ही रजिस्टर मेंटेन था। ऐसा लग रहा था पुलिसवालों ने डीएम के इस दौरे पर बेहद हल्के में लिया हो। बताया जा रहा है कि थाने में पहुंचते ही डीएम साहब का गुस्सा सातवें आसमान पर पहुंच गया था। जाते-जाते उन्होंने एसओ आशुतोष तिवारी को रेड सिग्नल दिखाया दिया था। डीएम के निरीक्षण और उसके फौरन बाद एसओ पर हुई कार्रवाई को लेकर पूरे दिन पुलिस महकमे में चर्चा होती रही।

admin

No Comments

Leave a Comment